सलाहकार लेखएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
खरपतवारनाशक का उपयोग करते समय ध्यान रखने योग्य बाते
1) विभिन्न फसलों के लिए दी गाई सिफारिश की गई खरपतवार नाशक सही मात्रा में दी जानी चाहिए। 2) समय सीमा समाप्त हुई खरपतवार नाशी उपयोग न करें, खरीदते समय इसका ध्यान रखें। 3) खरपतवार नाशक के लिए अलग नॉपसैक पंप का उपयोग करें। 4) खरपतवार नाशक का छिड़काव करते समय जमीन में नमी, होना चाहिए।
5) बारिश की संभावना होने पर व तेज हवा चलने पर खरपतवार नाशक का छिड़काव नहीं करना चाहिए। 6) जमीन पर छिड़काव करते समय पीछे पीछे जाना चाहिए ताकि छिड़काव किया हुआ जमीन पर कदम गिर न जाए। 7) ग्लाइफोसेट जैसे गैर चयनात्मक शाक नाशक का छिड़काव करने के बाद कम से कम 21 दिनों के लिए खेती न करें। 8) खरपतवार छिड़काव हर जगह एक ही दबाव में किया जाना चाहिए, छिड़काव करने के लिए प्लॅटपॅन या फ्लडजेट नोजल का उपयोग करें। 9) हुड का इस्तेमाल करना उचित है क्योंकि खड़े फसल में छिड़काव करते समय ध्यान रखें कि छिड़काव अन्य फसलों पर नहीं जाएँ। 10) खरपतवार नियंत्रण के लिए परिस्थिती के अनुसार, सिफारिश के अनुसार, खरपतवारनाशक का उपयोग करें, बार बार उपयोग से बचें। खरपतवार नाशक का छिड़काव की जाने वाली जमीन में वर्मीकंपोस्ट, गोबरखाद का उपयोग किया जाना चाहिए।
220
0
अन्य लेख