AgroStar
कड़कनाथ मुर्गे में क्या है खास, इसका बिज़नेस करेगा मालामाल!
बिज़नेस आईडियाAgrostar
कड़कनाथ मुर्गे में क्या है खास, इसका बिज़नेस करेगा मालामाल!
क्या है कड़कनाथ मुर्गे की खासियत:- 👉🏻इस नस्ल के मांस और अंडे को बहुत स्वस्थ माना जाता है क्योंकि इनमें कोलेस्ट्रॉल कम होता है और ये प्रोटीन से भरपूर होते हैं. कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक दिल का मरीज भी इस नस्ल के मांस और अंडे का सेवन खुशी-खुशी कर सकता है. चूंकि इस नस्ल के मांस में कम वसा और कोलेस्ट्रॉल होता है, मधुमेह और हृदय रोगी इनका सेवन कर सकते हैं। 👉🏻कहा जाता है कि कड़कनाथ मुर्गे की इस नस्ल की उत्पत्ति मध्य प्रदेश, गुजरात, राजस्थान और छत्तीसगढ़ से हुई है. आम तौर पर, नियमित ब्रॉयलर को सामान्य आकार में आने में 45 दिन लगते हैं जबकि कड़कनाथ नस्ल को सामान्य वजन तक पहुंचने में छह से आठ महीने लगते हैं। 👉🏻आमतौर पर आदिवासी समुदाय इस नस्ल को पालने में रुचि दिखाते हैं. कड़कनाथ नस्ल के मांस का रंग काला होता है जबकि अंडे का रंग हल्का गुलाबी रंग का होता है. साथ ही हैदराबाद में इसके मीट की कीमत 1,000 से 1,200 रुपये प्रति किलो और जीवित पक्षी की कीमत 850 रुपये प्रति किग्रा है. कड़कनाथ मुर्गे का व्यवसाय कैसे करें? 👉🏻अगर आप कड़कनाथ मुर्गी का व्यवसाय करना चाहते हैं तो आपको 100 मुर्गियां रखने के लिए 150 वर्ग फुट जगह चाहिए. साथ ही अगर आप एक हजार मुर्गियां रखना चाहते हैं तो आपको 1,500 वर्ग फुट जगह चाहिए. साथ ही मुर्गी शोर-शराबे से दूर होनी चाहिए. पानी और बिजली की प्रचुर आपूर्ति होनी चाहिए। कैसे रखें कड़कनाथ मुर्गे का ख्याल:- 👉🏻कड़कनाथ के चूजों और मुर्गियों को अंधेरे में और रात में नहीं खाना देना चाहिए. चिकन शेड को हर दिन कुछ घंटों की रोशनी की जरूरत होती है साथ ही दो पोल्ट्री फार्म एक दूसरे के करीब नहीं होने चाहिए. साथ ही पोल्ट्री फार्म में पर्याप्त हवा और रोशनी होनी चाहिए। स्त्रोत- Agrostar, 👉🏻किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
20
3
अन्य लेख