पशुपालनNews18
क्लोनिंग काउ'- रूस द्वारा तैयार की गयी अनोखी किस्म!
🐄रूस के वैज्ञानिकों ने देश में पहली बार ऐसी 'क्लोनिंग काउ' तैयार की है, जिससे निकलने वाले दूध से इंसानों को एलर्जी की परेशानी नहीं होगी! 👉ऐसा करने के लिए गाय के जीन में जरूरी बदलाव किए गए हैं. एक अनुमान के मुताबिक पूरी दुनिया में दूध से करीब 70 प्रतिशत लोगों को किसी-न-किसी तरह की एलर्जी है. इसी को देखते हुए रूस में इस तरह का यह पहला प्रयोग किया जा रहा है! 👉शोध करने वाले वैज्ञानिकों का कहना है कि प्रयोग के दौरान लोगों में एलर्जी के लिए उत्तरदायी उस प्रोटीन को हटा दिया गया है जो गाय के जीन में शामिल होता है! 👉वैज्ञानिकों ने 'क्लोनिंग काउ' को तैयार करने के लिए इसके भ्रूण के जीन में कुछ जरूरी बदलाव किए. इसके बाद भ्रूण को गाय के गर्भ में डाल दिया गया. फिर जब नए बछड़े का जन्म होता है, तो उसकी जांच करके यह पता लगाने की कोशिश की जाती है कि जीन में बदलाव का उसके ऊपर कुछ असर हुआ है कि नहीं! 👉यह पहली बार नहीं है कि किसी देश ने 'क्लोनिंग काउ' तैयार की है. इससे पहले न्यूजीलैंड में भी ऐसी एक गाय तैयार हुई थी. उस दौरान वैज्ञानिकों ने गाय के जीन में बदलाव कर उसके शरीर के रंग को हल्का करने की कोशिश की थी. दरअसल, हल्के रंग की वजह से सूरज की किरणें गाय के शरीर से टकराकर वापस लौट जाती हैं और इसी वजह से उसे कम गर्मी लगती है! स्त्रोत:- News18 👉 प्रिय किसान भाइयों अपनाएं एग्रोस्टार का बेहतर कृषि ज्ञान और बने एक सफल किसान। दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक 👍 करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
3
2
अन्य लेख