agrostar logo
सभी फसलें
कृषि ज्ञान
कृषि चर्चा
अॅग्री दुकान
कैसे करें ज्यादा बारिश में सोयाबीन का बचाव?
गुरु ज्ञानAgrostar India
कैसे करें ज्यादा बारिश में सोयाबीन का बचाव?
👉🏻इस बार के खरीफ सीजन ने किसानों का बारिश की वजह से बहुत नुकसान हुआ है । पहले लगातार बारिश से अफलन की स्थिति बनी। इसके बाद अतिवृष्टि से फसलें बह गई तो वहीं खेतों में पानी में ही गल गई। खेतों में पानी भरा होने के साथ ही कीचड़ में पैर गढ़ रहे हैं। बची फसल को खेत से निकालने की भी बड़ी समस्या खड़ी हो गई है। पकी फसलों के दाने भी ख़राब हो गए हैं और कम फली होने से बीज निकलना भी मुश्किल हो जाएगा। लगातार हो रही बारिश के चलते सोयाबीन का अधिक नुकसान हुआ है। तेज बारिश के दौरान इसकी फलियां झड़ कर खेतों में गिरने से कई किसानों को उत्पादन पर बड़ा फर्क पड़ेगा। वहीं इसमें भी इल्ली का प्रकोप बढ़ने से जो फलियां बची हैं उनको इल्लियां नुकसान पहुंचा रही है। बारिश में देरी होना भी इल्ली के प्रकोप का प्रमुख कारण है। नियंत्रण- ◾सबसे पहले आपको मौसम के अपडेट पर नजर रखना है। यदि आपके क्षेत्र में भारी बारिश का पूर्वानुमान है, तो खेत का दौरा करने और जलभराव की जांच करने के लिए तैयार रहें। बारिश के दौरान अपने खेत की जांच करते रहें और पानी को खेत में न रहने दें। ◾ज्यादा बारिश और हवा से फसल गिर सकती है, इसलिए सतर्क रहें। खेत में पानी न भरने दें। ◾यदि जल भराव की समस्या है तो जल निकासी की उचित व्यवस्था करें। आप ढलान की दिशा के आधार पर पानी को खेत से बाहर निकलना के लिए रास्ता बना सकते हैं। यह आमतौर पर तब किया जाता है जब पानी खेत में भरना शुरू हो जाता है। ◾उसके बाद जमीन में नमी रहने के लिए अमोनियम सल्फेट @ २५ किलो प्रति एकड़ दीजिये साथ में फफूंदजनित रोग के बचाव के लिए कॉपर युक्त फफूंदनाशक हुमीक या बयोविटा के साथ दीजिये। स्त्रोत:- Agrostar India, 👉🏻किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
13
3
अन्य लेख