AgroStar
केंचुआ खाद से किसान कमाएं लाखों का मुनाफा!
जैविक खेतीAgrostar
केंचुआ खाद से किसान कमाएं लाखों का मुनाफा!
👉नमस्कार किसान भाइयों आज के इस जानकारी में ग्रामीण परिवेश में केंचुआ पालन आम बात है, इसकी सहायता से खाद बनाकर किसान अच्छा मुनाफा भी कमा रहे हैं. इससे जमीन की उर्वकता बढ़ाने के साथ-साथ इसके उपयो उगने वाले फसल और सब्जियों के सेवन से स्वास्थ्य भी सही रहता है. 👉रसायनिक खाद के इस्तेमाल से मिट्टी की उर्वकता तो कम हो ही रही है, लोगों के स्वास्थ्य पर भी बेहद बुरा असर पड़ रहा है. ऐसे में ज्यादातर किसान अब जैविक खेती की तरफ शिफ्ट हो रहे हैं. इसकी सबसे खास बात है कि रासायनिक तौर तरीकों से खेती के मुकाबले इससे किसानों की लागत कम आती है, इसके लिए इस्तेमाल होने वाले खाद को हम घर पर ही तैयार कर सकते हैं, साथ ही बढ़िया मुनाफा कमा सकते हैं. ग्रामीण परिवेश में केंचुआ पालन आम बात है, इसकी सहायता से खाद बनाकर किसान अच्छा मुनाफा भी कमा रहे हैं. केंचुआ खाद बनाने के लिए थोड़ी सावधानी बरतनी होगी केंचुआ पालन के लिए ऐसा उपयुक्त स्थान चुनें जहां अंधेरा हो और तापमान की दृष्टि से यह थोड़ा गर्म रहे. इसे गीली और नरम जगह में रखना चाहिए. ध्यान रखें जहां केंचुओं का उत्पादन किया जा रहा है उस स्थान पर सूर्य की किरणें सीधी नहीं पड़ें. 👉केंचुआ खाद तैयार करने का तरीका :- केंचुआ खाद का उत्पादन 6 X 3 X 3 फीट के बने गड्ढे बनाएं पहले दो से तीन इंच आकार के ईंट या पत्थर के छोटे-छोटे टुकड़ों की तीन इंच मोटी परत बिछाएं. अब इस पत्थर के परत के ऊपर तीन इंच मोटी बालू की परत बिछाएं. इस बालू मिट्टी की परत के ऊपर अच्छी दोमट मिट्टी की कम से कम 6 इंच की मोटी परत बिछाएं तीस दिन के बाद ढंकने वाले टाट के बोरों, ताड़ या नारियल के पत्तों को हटाकर इसमें वानस्पतिक कचरे को या सूखे वानस्पतिक पदार्थों के साथ 60:40 के अनुपात मे में हरा वानस्पतिक पदार्थ मिलाकर दो से तीन इंच मोटी परत फैलाई जाती है . इसके उपर 8 से 10 गोबर के छोटे-छोटे ढेर रख दिये जाते हैं. गड्ढा भर जाने के 45 दिन बाद केंचुआ खाद तैयार हो जाती है 👉केंचुआ से कमाएं लाखों का मुनाफा :- इससे बनी खाद को आप अपने इलाके के किसानों को बेच सकते है. इसके अलावा अपने निकट किसी होटल या लांजिंग प्रतिष्ठानों को ये Earthworms बेच सकते हैं. ये दोनो काम करने से आपको अच्छी आमदनी हो सकती है और आप लाखों का मुनाफा कमा सकते हैं. स्रोत:-Agrostar 👉किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
8
0
अन्य लेख