AgroStar
कृषि मंत्रीबोले मानसून पर टिप्पणी करना जल्दबाजी होगी!
कृषि वार्ताAgrostar
कृषि मंत्रीबोले मानसून पर टिप्पणी करना जल्दबाजी होगी!
👉नमस्कार किसान भाइयों कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने उम्मीद जताई कि आने वाले दिनों में मॉनसून की बारिश प्रगति करेगी, जो खरीफ की बुवाई के लिए महत्वपूर्ण है. उन्होंने कहा कि धान के रकबे के बारे में टिप्पणी करना अभी जल्दबाजी होगी. कृषि मंत्रालय के आंकड़ों से पता चलता है कि 15 जुलाई तक धान की बुवाई वर्तमान खरीफ सीजन में 17.4 प्रतिशत घटकर 128.50 लाख हेक्टेयर (एलएच) रह गई है, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि में 155.53 लाख हेक्टेयर थी. हालांकि दलहन, मोटे अनाज और तिलहन के बुवाई रकबा 7-9 प्रतिशत अधिक है. भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने इस साल सामान्य मॉनसून रहने का अनुमान जताया है. खरीफ बुवाई के काम की प्रगति और धान के कम रकबे के बारे में पूछे जाने पर तोमर ने कहा, ‘अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी. मुझे उम्मीद है कि मॉनसून की बारिश आगे बढ़ेगी.’ 👉यह पूछे जाने पर कि क्या धान के रकबे में 17 प्रतिशत की गिरावट की भरपाई हो सकेगी, उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि इस पर टिप्पणी करना जल्दबाजी होगी. हमें इंतजार करना चाहिए. पूर्व कृषि आयुक्त एस के मल्होत्रा ने कहा कि धान की बुवाई के लिए 10 अगस्त तक का समय है और इस अंतर को पाटने के लिए पर्याप्त समय है. 👉यूपी, में बारिश में भारी कमी अपने पिछले सप्ताह की तुलना में पिछले सप्ताह, धान खेती के रकबे में सुधार हुआ है. आठ जुलाई तक बुवाई 24 प्रतिशत कम थी. धान के रकबे में गिरावट की भरपाई के लिए इस महीने की बारिश महत्वपूर्ण होगी. भारत में इस मौसम में सामान्य से 14 प्रतिशत अधिक बारिश हुई, लेकिन उत्तर प्रदेश में कम बारिश हुई है. उत्तर प्रदेश में वर्षा की कमी सामान्य से 65 प्रतिशत कम थी, जबकि राज्य में एक जून से 15 जुलाई के बीच सामान्य 220 मिमी की तुलना में केवल 77.3 मिमी वर्षा हुई थी. 👉कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ,उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि इस पर टिप्पणी करना जल्दबाजी होगी. हमें इंतजार करना चाहिए.' 👉स्रोत:-Agrostar किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
10
0
अन्य लेख