AgroStar
सभी फसलें
कृषि ज्ञान
कृषि चर्चा
अॅग्री दुकान
 किसानों को मिलेगी प्रोत्साहन राशि!
योजना और सब्सिडीAgroStar
किसानों को मिलेगी प्रोत्साहन राशि!
▶ मध्य प्रदेश किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री ने रानी दुर्गावती श्री अन्न प्रोत्साहन योजना के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि इसमें श्री अन्न-कोदो-कुटकी, रागी, ज्वार, बाजरा आदि का उत्पादन करने वाले किसानों को प्रति किलो 10 रुपए की अतिरिक्त राशि प्रोत्साहन स्वरूप प्रदान की जाएगी। यह राशि सीधे किसानों के खाते में अंतरित की जाएगी। ▶ पूरे प्रदेश में लागू की जाएगी योजना रानी दुर्गावती श्री अन्न प्रोत्साहन योजना जिलों में पूर्व से मिलेट प्र-संस्करण इत्यादि के लिए कार्यरत समूह को फेडरेशन के रूप में संगठित कर क्षमता वृद्धि तथा कोदो-कुटकी के विपणन एवं ब्राण्डिंग गतिविधियों को बढ़ावा देने की है। योजना वर्ष 2023-24 से वर्ष 2025-26 तक चलेगी तथा इसका कार्यक्षेत्र संपूर्ण मध्यप्रदेश रहेगा। कंपनी अधिनियम-2013 के अंतर्गत कंपनी के रूप में फेडरेशन गठित होगी। ▶ विषम जलवायु में भी हो सकती है खेती मध्य प्रदेश के कृषि ने बताया कि मिलेट फसलें विषम जलवायु के प्रति सहनशील है तथा कम उपजाऊ भूमियों में भी अच्छी पैदावार देने में सक्षम है। मिलेट अनाज अनेक पोषक तत्वों जैसे- केल्शियम, आयरन, विटामिन, डायटरी फाईबर आदि से परिपूर्ण हैं। वर्तमान में जागरूक उपभोक्ताओं ने ग्लूटेन के विकल्प के लिए खाद्य पदार्थों पर ध्यान देना प्रारंभ कर दिया है। समस्त मिलेट अनाज ग्लूटेन फ्री होते हैं तथा पौष्टिकता को दृष्टिगत रखते हुए इनका महत्व और भी बढ़ जाता है। ▶ 100 रुपये प्रति किलो से भी अधिक है बाजार भाव अंतर्राष्ट्रीय मिलेट वर्ष 2023 में श्रीअन्न (मिलेट) फसलों के व्यापक प्रचार-प्रसार से मिलेट उत्पादों की मांग में वृद्धि हुई है। कोदो-कुटकी जैसे मिलेट का बाजार मूल्य 100 रूपये प्रति किलो से भी अधिक है। उपभोक्ताओं में वृद्धि से कृषकों की विशेषकर जनजातीय कृषकों की आय वृद्धि में संभावनाएँ बढ़ गई है। निरंतर आपूर्ति न होने, वैल्यू चेन में गैप के कारण कृषकों को इसका उचित लाभ प्राप्त नहीं हो पा रहा है। कृषि मंत्री ने बताया कि वैल्यू चेन से मिलेट उत्पादक कृषकों की आय में वृद्धि की जा सकती है ▶ कोदो-कुटकी की खेती कर रहे किसानों को कोदो का लगभग 2000 रुपए प्रति क्विंटल तथा कुटकी का लगभग 3000 रुपए प्रति क्विंटल मूल्य प्राप्त हो रहा है। कृषकों से कोदो- कुटकी एफएक्यू मानक के आधार पर फेडरेशन द्वारा उपार्जित किया जायेगा, जिससे उन्हें उचित मूल्य मिल सकेगा। ▶ स्त्रोत:- AgroStar किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट 💬करके ज़रूर बताएं और लाइक 👍एवं शेयर करें धन्यवाद।
15
0
अन्य लेख