किसानों को मिलेगा 50% का अनुदान!
योजना और सब्सिडीAgrostar
किसानों को मिलेगा 50% का अनुदान!
👉पशुपालन करने वालों के लिए मछली पालन करना आज के समय में सबसे मुनाफे का सौदा साबित होता जा रहा है. इसे बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार से लेकर राज्य सरकारें भी पशुपालकों की आर्थिक रूप से मदद कर रही हैं. इसी कड़ी में भारत सरकार ने मछली पालन करने वाले देश के नागरिकों के लिए मत्स्य संपदा योजना को तैयार किया है, जिसके तहत किसानों को नई तकनीकों के साथ आर्थिक मदद भी प्राप्त हो रही है. 👉मछली पालन के लिए मिलेगा 50% तक अनुदान:- प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के तहत राज्य सरकार किसानों व निर्धन ग्रामीण पशुपालकों को मछली पालन के लिए करीब 50 प्रतिशत तक सब्सिडी की सुविधा उपलब्ध करवा रही है. इसके अलावा सरकार का यह भी लक्ष्य है कि उन्हें आर्थिक मदद के साथ-साथ नई तकनीकों से भी जोड़ा जाए. ताकि यह अपनी आय को डबल कर मुनाफा कमा सकें. 👉सरकार के द्वारा जारी किए गए नोटिफिकेशन के अनुसार, एरियटर की स्थापना करने पर लगभग 40,000 रुपए तक का खर्च आता है. इस खर्च पर सरकार की तरफ से 50 प्रतिशत तक का अनुदान दिया जाता है. बता दें कि यह अनुदान भी विभिन्न लोगों को लिए अलग-अलग तय किया गया है. जैसे कि- राज्य की महिलाओं को इस योजना के तहत 60 प्रतिशत तक अनुदान और वहीं अन्य वर्ग के ग्रामीण लोगों को 40 प्रतिशत तक अनुदान की राशि दी जाती है. 👉योजना में मिलते हैं ये लाभ:- मछली पालन के लिए पट्टे पर गांव के तालाब मछली संस्कृति इकाई के निर्माण पर ऋण व प्रशिक्षण तालाब स्थलों की मिट्टी व पानी की सही तरीके से जांच की सुविधा योजना और तालाबों के अनुमान की तैयारी गुणवत्ता वाले बीज और फीड की आपूर्ति मछली के विकास व रोगों की जांच करना 👉ऐसे करें योजना में आवेदन? अगर आप भी प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना में घर बैठे ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको राज्य मछली पालन विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा. इसके अलावा आप अपने जिले के नजदीकी पशुपालन/मछली पालन विभाग के कार्यालय में भी जाकर संपर्क कर सकते हैं. 👉स्रोत:-Agrostar किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
12
1
अन्य लेख