कृषि वार्ताकिसान समाधान
किसानों को दी जाएगी 1600 करोड़ रुपये की राहत राशि!
👉🏻किसानों को दी जाएगी 1600 करोड़ रुपये की राहत राशि:- देश में इस वर्ष अधिक बारिश एवं कीट-रोग आदि प्रकोप के चलते खरीफ फसलों को काफी नुकसान पहुंचा था | इस नुकसान का सर्वे आदि कार्य पूर्ण होने के बाद मध्यप्रदेश सरकार ने राज्य के किसानों को राहत राशि देने का निर्णय लिया है | राज्य के करीब 35 लाख 50 हजार किसानों की फसलों को नुकसान पहुंचा था जिनके बैंक खातों में 18 दिसम्बर को राहत राशि प्रदान की जाएगी | मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार, 18 दिसम्बर को दोपहर 1 बजे रायसेन में आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश के 35.50 लाख किसानों के खातों में राहत राशि के 1600 करोड़ रुपये अंतरित करेंगे। 👉🏻मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने 18 दिसंबर को राज्य में हो रहे चार स्तरीय किसान कल्याण कार्यक्रम और सम्मेलनों के संबंध में विस्तृत निर्देश दिए। राज्यस्तरीय महा-सम्मेलन रायसेन में होगा जिसमें मुख्यमंत्री श्री चौहान सम्मिलित होंगे। अन्य सम्मेलन जिला, विकासखंड और ग्राम पंचायत स्तर पर होंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किसान सम्मेलन को सफल बनाने के संबंध में कलेक्टर्स को विस्तृत निर्देश दिए। किसान सम्मेलनों में खरीफ 2020 में हुए सोयाबीन आदि फसलों के नुकसान की राहत राशि किसानों के खातों में अंतरित की जाएगी । इससे करीब 35 लाख 50 हजार किसान लाभान्वित होंगे। 👉🏻मुख्यमंत्री द्वारा दिए गए निर्देश:- किसानों को राहत राशि के वितरण के साथ ही पशुपालकों ,मत्स्य पालकों आदि को भी लाभ प्रदान किए जाएं। किसान क्रेडिट कार्ड के वितरण का कार्य भी किया जाए। कृषि ,ग्रामीण विभाग, राजस्व विभाग विशेष रूप से कार्यक्रम की तैयारियों को अंतिम रूप दें। सीएम ने कहा कार्यक्रम में अधिकतम किसानों को जोड़ने का प्रयास करें। सोशल डिस्टेंसिंग और सावधानी रखे। 👉🏻प्रधानमन्त्री श्री मोदी भी संबोधित करेंगे:- मुख्यमंत्री श्री चौहान के संबोधन के पश्चात प्रधानमंत्री श्री मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंस द्वारा किसानों को संबोधित करेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान के संबोधन के पश्चात प्रधानमंत्री श्री मोदी दोपहर लगभग 2 बजे संबोधित करेंगे।नए कृषि कानूनों के लाभकारी प्रावधानों के संबंध में किसानों को विस्तार से इन सम्मेलनों में जानकारी प्रदान की जाएगी। 👉🏻लोकार्पण, शिलान्यास भी होंगे:- मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इनके साथ सम्मेलनों में कृषि विकास से संबंधित कार्यों के लोकार्पण और शिलान्यास भी होंगे। सम्मेलनों में किसान कानूनों के प्रावधानों की विस्तृत जानकारी दी जाएगी, प्रत्येक जिले में लगभग 1000 किसानों की भागीदारी रहेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि विभिन्न क्षेत्रीय चैनल और वेबकास्ट से कार्यक्रम का लाइव प्रसारण रहेगा ।उन्होंने निर्देश दिए कि सम्मेलनों की तैयारियों को आज ही अंतिम रूप दे दिया जाए। 👉🏻खेती तथा खेती सम्बंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए कृषि ज्ञान को फॉलो करें। फॉलो करने के लिए अभी ulink://android.agrostar.in/publicProfile?userId=558020 क्लिक करें। स्रोत-किसान समाधान, प्रिय किसान भाइयों यदि आपको दी गयी जानकारी उपयोगी लगी तो इसे लाइक👍करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ जरूर शेयर करें धन्यवाद।
33
6
संबंधित लेख