कृषि वार्ताTV9
किसानों के लिए आ गयी दो नई कृषक स्पेशल ट्रेन!
🚆किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए हर स्तर से प्रयास किया जा रहा है. इस काम में भारतीय रेल अहम भूमिक अदा कर रही है. किसानों के उपज को समय पर और कम लागत में बड़े बाजार तक पहुंचाने के लिए रेलवे किसान रेल का संचालन कर रहा है. इसी कड़ी में अब दो नई स्पेशल ट्रेनों की घोषणा की गई है. पूर्व रेलवे ने पश्चिम बंगाल के शांतिपुर और गेदे रेलवे स्टेशन से दो नई कृषक स्पेशल ट्रेन की शुरुआत की है! 👉पूर्व रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि ये दोनों ट्रेनें गेदे से सियालदह और शांतिपुर से सियालदह रूट पर चलेंगी. दोनों रूट के महत्वपूर्ण स्टेशनों पर किसानों के उत्पाद के लोडिंग/अनलोडिंग की सुविधा मौजूद रहेगी. अपने उत्पाद को बड़े बाजार तक पहुंचाने में किसानों का ट्रांसपोर्ट लागत काफी कम हो जाएगा, जिसका उन्हें सीधा फायदा मिलेगा! बुधवार से शुरू हो चुका है ट्रेनों का परिचालन- 👉अधिकारियों के मुताबिक, दोनों ट्रेनों का परिचालन बुधवार (8 सितंबर) से शुरू हो गया है. गेदे-सियालदह ट्रेन गेदे से 8.15 बजे खुलेगी और 11.10 बजे सियालदह स्टेशन पहुंच जाएगी. वहीं शांतिपुर-सियालद ट्रेन 15.10 बजे शांतिपुर से रवाना होगी और 17.34 बजे सियालदह पहुंचेगी. वहीं लौटते वक्त यह 11.30 बजे सियालदल से खुलेगी और 13.52 बजे शांतिपुर पहुंच जाएगी. वहीं गेदे सेक्शन की ट्रेन रानाघाट से 7 बजे चलेगी और 7.58 बजे गेदे स्टेशन पर पहुंच जाएगी! 60 से अधिक मार्गों पर संचालित हो रही किसान रेल- 👉केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई किसान रेल सेवा अब देश के 60 से अधिक रेलमार्गों पर संचालित हो रही है. किसान रेल के जरिये राष्ट्रव्यापी बाजार तक किसानों की पहुंच बढ़ी है. किसानों को अपने उत्पाद के बेहतर दाम मिल रहा है! 👉किसान रेल में सरकार द्वारा फलों और सब्जियों की ढुलाई में 50 फीसदी की सब्सिडी दी जाती है. किसान रेल सेवा की शुरुआत सात अगस्त 2020 को हुई थी. योजना के अंतर्गत किसानों के उत्पादों को राष्ट्रीय बाजार तक पहुंचाने के लिए रेल परिवहन का इस्तेमाल किया गया. इससे किसानों को यह फायदा मिला कि उनके उत्पाद समय पर बड़े बाजारों तक पहुंचने लगे. इससे किसानों को उचित दाम मिला और उन्हें काफी फायदा हुआ! स्त्रोत:- TV9 👉 प्रिय किसान भाइयों अपनाएं एग्रोस्टार का बेहतर कृषि ज्ञान और बने एक सफल किसान। दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक 👍 करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
19
5
अन्य लेख