AgroStar
सभी फसलें
कृषि ज्ञान
कृषि चर्चा
अॅग्री दुकान
किसानों की आर्थिक स्थिति में होगा सुधार!
समाचारAgroStar
किसानों की आर्थिक स्थिति में होगा सुधार!
✅FPO किसान उत्पादक संगठन किसानों के लिए काफी लाभकारी होता है. इसकी मदद से वह अपनी कई तरह की परेशानियों को मिनटों में हल कर लेते हैं. ✅ किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार करने के लिए FPO सबसे अच्छा साधन माना जाता है. एफपीओ की फुल फॉर्म किसान उत्पादक संगठन है. दरअसल, एफपीओ के माध्यम से किसानों को कृषि यंत्रों से लेकर खाद-बीज और अन्य कई चीजें सस्ती दरों पर मिलती है. आज के समय में छोटे और सीमांत किसानों को किसान संगठन से जुड़कर काम करना होता है. ✅ क्या है FPO? किसान उत्पादक संगठन यानी FPO किसानों द्वारा बनाया गया एक स्वयं सहायता समूह होता है.एफपीओ लघु एवं सीमांत किसानों का एक समूह है इससे जुड़े किसानों को न सिर्फ अपनी उपज के लिये बाजार मिलता है बल्कि खेत में लगने वाले खाद, बीज, दवाइयों और कृषि यंत्रों भी सस्ती दरों पर मिलते हैं. FPO के माध्यम से किसानों को सीधे लाभ मिलता है. इसमें बिचौलिया नहीं होते हैं. देखा जाए तो FPO का मुख्य उद्देश्य किसानों को हर एक संभव मदद करना होता है. ✅ FPO बनाने के लिए जरूरी कागजात ▶ आधार कार्ड ▶ स्थायी निवास प्रमाण पत्र ▶ जमीन के कागजात ▶ बैंक पासबुक की फोटोकॉपी आदि. ✅ FPO ऐसे बनाएं किसान उत्पादक संगठन बनाने के लिए सबसे पहले किसानों का एक ग्रुप बनाना होगा. इस ग्रुप में कम से कम 11 सदस्य होने चाहिए. इसके बाद आपको एक नाम सोचकर कंपनी एक्ट के तहत रजिस्ट्रेशन करना होगा. ध्यान रहे कि किसान उत्पादक संगठन के सभी सदस्यों का किसान होना और भारत की नागरिकता का होना अनिवार्य है. आप चाहे तो एफपीओ बनाने के लिए राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक लघु कृषक कृषि व्यापार संघ एवं राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम से भी संपर्क कर सकते हैं. ✅ स्त्रोत:- AgroStar किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट 💬करके ज़रूर बताएं और लाइक 👍एवं शेयर करें धन्यवाद।
51
0
अन्य लेख