सफलता की कहानीkrishak jagat
कम पानी में लाभ कमाएं, औषधीय फसलें इस बार लगाएं
👉🏻किसान भाइयों आज हम ले कर आये है एक किसान भाई की सफलता की कहानी जिन्होंने कम क्षेत्र और कम जल के साथ की खेती जिससे मिल रहा हैं अत्याधिक लाभ - 👉🏻आइये मिलते है मध्य प्रदेश के खरगोन जिले के किसान - श्री महेंद्र मंडलोई जी सें खरगोन जिले में औषधीय फसलों की तरफ किसानों का रुझान बढ़ रहा है, क्योंकि औषधीय फसलें किसानों की आय बढ़ाती है । कसरावद तहसील के ग्राम छोटी-कसरावद के प्रगतिशील कृषक श्री महेंद्र मंडलोई ने गत वर्ष अश्वगंधा की फसल ली थी, जिसमें उन्हें अच्छा मुनाफा हुआ तो इस वर्ष ढाई बीघे में फिर अश्वगंधा लगाया है। इसके अलावा एक बीघे में कलौंजी भी लगाई है। श्री मंडलोई ने बताया कि आत्मा परियोजना के कसरावद ब्लॉक से अकरकरा के बीज भी उपलब्ध कराने की बात कही गई है, जिसे आधे बीघे में एक सप्ताह बाद लगाने का विचार है। 👉🏻अच्छी बात तो यह है कि पानी की बचत के लिए श्री मंडलोई ने अपने खेत में रेन पाइप का इस्तेमाल किया है, जो स्प्रिंकलकर की तरह काम करता है।आपको बताना चाहेंगे इससे पानी की 50 % बचत हो जाती है। यह स्प्रिंकलर से बहुत सस्ता पड़ता है। कसरावद तहसील में सम्भवतः पहला प्रयोग इन्होंने ही किया है। एक बीघे में रेन पाइप के 6 बंडल लगते हैं। एक बंडल की लम्बाई 100 मीटर और कीमत 600 रुपए है। स्रोत:- कृषक जगत  👉🏻प्रिय किसान भाइयों दी गई उपयोगी जानकारी को लाइक 👍🏻 करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
23
1
अन्य लेख