सलाहकार लेखएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस
ऐसे करें सर्दियों में फसल की सुरक्षा!
👉🏻किसान भाइयों ठण्ड के मौसम में तापमान के अधिक गिर जाने तथा पाला पड़ने की आशंका हमेशा बनी रहती है। जिससे फसल में नुकसान होता है जिसका उत्पादन पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है। आज इस लेख के माध्यम से हम ठण्ड से अपनी फसल को कैसे बचाएं इसके बारे में जानेंगें। 👉🏻खेत में नमी बनाये रखना- किसान भाइयों खेत में नमी का संतुलन फसल को अधिक ठण्ड से बचाने में सहायक है ठण्ड के मौसम में समय-समय पर फसलों को हल्की सिचाई देकर भी ठण्ड के प्रभाव को कम किया जा सकता है। 👉🏻मल्चिंग का प्रयोग- मल्चिंग के प्रयोग से भी ठण्ड के प्रभाव को कम किया जा सकता है साथ ही साथ खेत में मल्च या पलवार का प्रयोग करने से अवांछित खरपतवार भी नहीं उगते तथा मृदा की नमी भी संरक्षित रहती है। मल्चिंग लगाने के लिए सूखी घास, पुआल तथा प्लास्टिक शीट का प्रयोग किया जा सकता है। 👉🏻पौधशाला के पौधों एवं क्षेत्र वाले उद्यानों/नकदी सब्जी वाली फसलों को टाट, पॉलिथीन अथवा भूसे से ढ़क दें। वायुरोधी टाटिया को हवा आने वाली दिशा की तरफ से बांधकर क्यारियों के किनारों पर लगाएं तथा दिन में पुनः हटा दें। 👉🏻दीर्घकालीन उपाय के रूप में फसलों को बचाने के लिए खेत की उत्तरी-पश्चिमी मेड़ों पर तथा बीच-बीच में उचित स्थानों पर वायु अवरोधक पेड़ जैसे शहतूत, शीशम, बबूल, खेजड़ी, एवं जामुन आदि लगा दिए जाए, तो पाले और ठंडी हवा के झोंकों से फसल का बचाव हो सकता है। स्रोत:- एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस, प्रिय किसान भाइयों दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक👍करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!"
14
3
अन्य लेख