AgroStar
ऐसे करें धान में सैनिक कीट से बचाव!
सलाहकार लेखकृषि विभाग उत्तर प्रदेश
ऐसे करें धान में सैनिक कीट से बचाव!
किसान भाइयों धान की फसल में इस कीट का प्रकोप बालियाँ निकलने की अवस्था में या उसके बाद होता है। इस कीट की सूड़ियाँ भूरे रंग की होती हैं, जो दिन के समय कल्लों के मध्य अथवा भूमि की दरारों में छिपी रहती हैं। सूड़ियाँ शाम को कल्लों अथवा दरारों से निकलकर पौधों पर चढ़ जाती हैं तथा बालियों को छोटे–छोटे टुकड़ों में काटकर नीचे गिरा देती हैं। इसके नियंत्रण के लिए नीचे दिए गए कीटनाशियों में से किसी एक का प्रयोग करें। 1:- फेनवैलरेट 0.04 प्रतिशत धूल 8 से 10 किलोग्राम प्रति एकड़ की दर से भुरकाव करें। 2:- खेत एवं मेंड़ों को घासमुक्त एवं मेड़ों की छटाई करना चाहिए। 3:- समय से रोपाई करनी चाहिए। 4:- फसल की साप्ताहिक निगरानी करनी चाहिए।
स्रोत- कृषि विभाग उत्तर प्रदेश, यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो इसे  लाइक करें तथा अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद। 
10
0
अन्य लेख