योजना और सब्सिडीNews 18
एस.बी.आई की ‘तत्‍काल ट्रैक्टर लोन’ योजना!
👉अगर आप खेती से जुड़े काम करवाने के लिए किराये पर ट्रैक्‍टर मंगाने से परेशान होकर नया ट्रैक्‍टर खरीदने की योजना बना रहे हैं और आपके पास पैसे कम पड़ रहे हैं तो ये खबर आपके लिए ही है. देश का सबसे बड़ा कर्जदाता स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया ने किसानों के लिए कर्ज की खास योजना ‘तत्‍काल ट्रैक्‍टर लोन’ (SBI Tatkal Tractor Loan) पेश की है. इसके तहत एसबीआई इंश्‍योरेंस (Tractor Insurance) और रजिस्ट्रेशन फीस (Registration Fees) समेत ट्रैक्टर की 100 फीसदी लागत तक को कर्ज के तौर पर उपलब्‍ध करा रहा है! 👉एसबीआई तत्काल ट्रैक्‍टर लोन एग्रीकल्चर टर्म लोन है. बैंक की ओर से दिए जाने वाले लोन में ट्रैक्‍टर एक्सेसरीज की कीमत शामिल नहीं होगी. सबसे खास बात है कि किसान तत्‍काल ट्रैक्‍टर लोन में ली गई रकम का बैंक को 4 से 5 साल में भुगतान कर सकते हैं. बैंक की तरफ से फाइनेंस किए गए ट्रैक्टर का कंप्रेहेंसिव इंश्‍योरेंस (Comprehensive Insurance) रहता है. ट्रैक्टर की लागत की 25/40/50 फीसदी (इनवॉइस + बीमा + रजिस्ट्रेशन) राशि शून्य दर की टीडीआर में जमा की जानी चाहिए. बता दें कि बैंक की ओर से फाइनेंस किया गया ट्रैक्टर लोन चुकाने तक बैंक का होगा यानी एक तरह से गिरवीं रहेगा. साथ ही मार्जिन मनी के तौर पर स्वीकृत टीडीआर पर बैंक का अधिकार होगा! किसे मिल सकता है एसबीआई का ये लोन? – तत्‍काल ट्रैक्‍टर लोन के लिए आपके पास कम से कम 2 एकड़ जमीन होनी चाहिए! – सभी किसान इस योजना के तहत बैंक में लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं! – लोन में एसबीआई की ओर से बताए गए रिश्तेदार ही सह-आवेदक बन सकते हैं! आवेदन के साथ कौन से दस्‍तावेज चाहिए? – लोन के लिए एप्‍लीकेश्‍यान फॉर्म भरें. इसमें किसी डीलर से ट्रैक्‍टर का कोटेशन भी लगाएं! – पहचान प्रमाण के तौर पर वोटर आई, पैन, पासपोर्ट, आधार या ड्राइविंग लाइसेंस में कोई एक! – एड्रेस प्रूफ के लिए मतदाता पहचान कार्ड, पासपोर्ट, आधार कार्ड या ड्राइविंस लाइसेंस में एक! – इसके अलावा कृषि योग्‍य भूमि का प्रमाण पेश करना होगा! – साथ ही 6 पोस्ट डेटेड चेक उपलब्‍ध कराने होंगे! एसबीआई को कितना चुकाना होगा ब्‍याज? – कर्ज की राशि से टीडीआर की राशि घटाने के बाद बची राशि पर ब्याज लगेगा! – मार्जिन 25%: एक साल की एमसीएलआर + 3.25% प्रति वर्ष यानी 10.25 फीसदी! – मार्जिन 40%: एक साल की एमसीएलआर + 3.10% प्रति वर्ष यानी 10.10 फीसदी! – मार्जिन 50%: एक वर्ष की एमसीएलआर + 3.00% प्रति वर्ष यानी 10 फीसदी! – प्रोसेसिंग फीस आरंभिक शुल्क के रूप में ऋण राशि का 0.50 फीसदी है! स्त्रोत:- News18 👉 प्रिय किसान भाइयों गई उपयोगी जानकारी को लाइक 👍 करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
14
6
अन्य लेख