एग्रीकल्चर की पढ़ाई करने वाली लड़कियों को मिलेगा पैसा !
समाचारAgrostar
एग्रीकल्चर की पढ़ाई करने वाली लड़कियों को मिलेगा पैसा !
👱🏻‍♀️कृषि क्षेत्र में बुवाई से लेकर रोपाई, जल निकासी, सिंचाई, उर्वरक, प्लांट प्रोटक्शन, खरपतवार हटाने और भंडारण तक के कार्यों में महिलाएं अग्रणी भूमिका निभा रही हैं. इस क्षेत्र में उनके सशक्तिकरण और उनकी प्रभावी भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए राज्य में कृषि की पढ़ाई करने वाली छात्राओं के लिए राजस्थान सरकार ने ‘कृषि छात्रा प्रोत्साहन योजना’ चलाई हुई है. ताकि वो कृषि के क्षेत्र की नई तकनीकों का अध्ययन करें और औपचारिक ज्ञान प्राप्त करें. इसके बाद वो कृषि और किसानों के विकास के लिए काम करें। 👱🏻‍♀️योजना के तहत अध्ययन के लिए कृषि को विषय के तौर पर चुनने वाली बालिकाओं को प्रोत्साहन देने के उद्देश्य से कृषि संकाय में 11वीं कक्षा से लेकर पीएचडी तक कर रही छात्राओं को 5 हजार से लेकर 15 हजार की राशि प्रति वर्ष दी जाएगी. योजना में आवदेन करने के लिए छात्रा का राजस्थान का मूल निवासी होना तथा किसी भी राजकीय एवं राज्य सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त विद्यालय, महाविद्यालय या विश्वविद्यालय में कृषि संकाय में अध्ययनरत होना आवश्यक है। किसे कितना मिलेगा पैसा ? 👱🏻‍♀️संयुक्त कृषि निदेशक जीएल कुमावत ने बताया कि योजना के तहत राज्य में कृषि विषय लेकर पढ़ाई करने वाली 11वीं एवं 12वीं कक्षा की छात्राओं को प्रतिवर्ष 5 हजार रुपये मिलेंगे. कृषि विज्ञान से ग्रेजुएट के विषयों जैसे कि बागवानी, डेयरी, एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग और फूड प्रोसेसिंग के साथ ही पोस्ट ग्रेजुएट (एमएससी कृषि) में अध्ययन करने वाली छात्राओं को 12 हजार रुपये प्रति वर्ष मिलेंगे. इसी प्रकार कृषि विषय में पीएचडी करने वाली छात्राओं को 15 हजार रुपये प्रति वर्ष (अधिकतम 3 वर्ष) तक प्रोत्साहन राशि के तौर पर दिए जाएंगे। योजना पर कितना खर्च हुआ पैसा - 👱🏻‍♀️कृषि छात्रा प्रोत्साहन योजना के तहत पिछले चार वर्षों में अध्ययनरत 65 हजार 424 छात्राओं को कुल 4,257.78 लाख रुपये का भुगतान किया गया है. वर्ष 2018-19 में अध्ययनरत 14 हजार 130 छात्राओं को 967.93 लाख रुपये मिले हैं. वर्ष 2019-20 में 15 हजार 780 अध्ययनरत छात्राओं को 930.06 लाख रुपये की प्रोत्साहन रकम दी गई. वर्ष 2020-21 में अध्ययनरत 14 हजार 647 छात्राओं को 1075.23 लाख रुपये का तथा वर्ष 2021-22 में 20 हजार 867 कृषि संकाय में अध्ययनरत छात्राओं को 1284.56 लाख रुपये का भुगतान किया गया है। स्कॉलरशिप के लिए आवश्यक दस्तावेज - 👱🏻‍♀️कृषि में अध्ययनरत छात्राओं को प्रोत्साहन योजना में आवेदन करते समय छात्राओं को आवश्यक दस्तावेज जैसे जन आधार कार्ड, गत वर्ष की अंकतालिका, मूल निवास प्रमाण पत्र, संस्था प्रधान का ई-साइन प्रमाण पत्र, नियमित विद्यार्थी होने का संस्था प्रधान का प्रमाण पत्र तथा श्रेणी सुधार हेतु प्रवेश नहीं लेने का प्रमाण पत्र ऑनलाइन अपलोड करना होता है। योजना में कैसे करें आवेदन ? 👱🏻‍♀️योजना में आवेदन की इच्छुक छात्राएं ई-मित्र के माध्यम या खुद राज किसान साथी पोर्टल पर प्रोत्साहन राशि के लिए आवेदन कर सकती हैं. योजना अथवा आवेदन के संबंध में कोई भी जानकारी प्राप्त करने के लिए छात्राएं निकट के किसान सेवा केंद्र पर कृषि पर्यवेक्षक या सहायक कृषि अधिकारी या जिला स्तर पर उप निदेशक कृषि (विस्तार) से भी संपर्क कर सकती हैं। 👉स्त्रोत:-Agrostar किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
31
3
अन्य लेख