AgroStar
एक पेड़ से 50 हजार रुपये की होगी कमाई, खेती करके किसान बनेंगे लखपति!
बिज़नेस आईडियाAgrostar
एक पेड़ से 50 हजार रुपये की होगी कमाई, खेती करके किसान बनेंगे लखपति!
👉🏻भारत में किसानों ने अब परंपरागत फसलों से इतर नई फसलों की खेती की तरफ तेजी से रुख किया है. किसानों को इसका बढ़िया मुनाफा भी मिल रहा है. खजूर भी ठीक इसी तरह की खेती है. इसके फलों का उपयोग जूस, जैम, चटनी, अचार और बेकरी जैसी कई तरह की चीजों में की जाती हैं। 👉🏻बता दें कि खजूर की खेती में लागत ज्यादा नहीं आती है.अगर एक एकड़ में खजूर के 70 पेड़ भी लगाते हैं तो हमें आराम से 5 हजार किलो तक की पैदावार हासिल हो जाता है. एक पेड़ से आराम से 50 हजार रुपये तक की कमाई हासिल की जा सकती है. ऐसे में किसान कुछ ही वर्षों में लखपति तक बन सकता है। 👉🏻खजूर की खेती के लिए उचित जल निकासी वाली रेतीली मिट्टी की सबसे ज्यादा उपयुक्त होती है. पौधों की अच्छे से वृद्धि हो सके इसके लिए 30 डिग्री तापमान की आवश्यकता होती है. साथ ही इसके फल को पकने के लिए 45 डिग्री तापमान की जरूरत होती है. यानी तेज धूप इस पौधे के विकास के लिए सबसे बेहतर साबित होता है। खेत की तैयारी -  👉🏻इसकी खेती के लिए रेतीली और भुरभुरी मिट्टी की आवश्यकता होती है. ऐसे में खेती से पहले खेत तैयार करना जरूरी है. इसके लिए सबसे पहले खेत की मिट्टी पलटने वाले हलो से गहरी जुताई कर देनी चाहिए. खेत को खुला छोड़ दें और फिर कल्टीवेटर के माध्यम से दो से तीन जुताई कर दे. ऐसा करने से खेत की मिट्टी भुरभुरी हो जाएगी. इसके बाद खेत को पाटा लगाकर समतल कर लें. इससे खेत में पानी नहीं भरेगा और जलनिकासी की व्यवस्था सही रहेगी. साथ ही पौधे का विकास भी सही से होगा। कैसे लगाएं पौधे -  👉🏻खजूर के पौधों की रोपाई की जारी है. इसके लिए खेत में एक मीटर की दूरी पर गड्ढे तैयार कर लें. इन गड्ढों में 25 से 30 किलो गोबर की खाद को मिट्टी के साथ मिलकर डाल दें. अब इसके पौधों को  किसी सरकारी रजिस्टर्ड नर्सरी से खरीद लें और पौधों को तैयार किए गए गड्ढों में लगा लें. इसके पौधों की रोपाई के लिए अगस्त के महीने को उचित माना जाता है. एक एकड़ के खेत में तक़रीबन 70 खजूर के पौधों को लगा सकते है. खजूर का पौधा रोपाई के 3 वर्ष बाद पैदावार देने के लिए तैयार हो जाता है। स्त्रोत:- Agrostar 👉🏻किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
14
4
अन्य लेख