गुरु ज्ञानAgrostar India
ईसबगोल में उकठा रोग प्रबंधन!
👉ईसबगोल की फसल में उकठा रोग के नियंत्रण के बारे में जानेंगे,ईसबगोल की फसल में जब कल्ले की अवस्था होती है 👉तब ये ज्यादा देखने कोप मिलती है,इस दसा में ईसबगोल के पौधे खड़े के खड़े सुख जाते है,इसके कारण किसानो को आर्थिक हनी देखने को मिलती है, 👉ईसबगोल फसल में उकठा रोग फफूंद जनित बीमारी है,इसके बचाव के लिए फसल को एकीकृत अपनाना बहुत आवश्यक होता है 👉सबसे पहले गर्मी के मौसम में ईसबगोल के खेत की गहरी जुताई करें,जिससे मिट्टी के अंदर फफूंद जनित रोग समस्याँए समाप्त हो जायें। 👉और फसलचक्र अपनाना बहुत आवश्यक होता है। और ईसबगोल की बुआई करने से पहले खेत में 50 किलोग्राम गोबर की खाद में 2 किलोग्राम ट्राइकोडर्मा बिरड़ी को मिला कर 7 दिन तक छांव में रख दे और फिर आखिरी जुताई के समय खेत में बिखेर कर जुताई कर दे.फिर इसबगोल की बुआई करें इससे उकठा की समस्या से छुटकारा मिल जाता है। 👉स्त्रोत:- AgroStar किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
33
5
अन्य लेख