AgroStar
सभी फसलें
कृषि ज्ञान
कृषि चर्चा
अॅग्री दुकान
इस साल जमकर बरसेगा मानसून!
समाचारAgroStar
इस साल जमकर बरसेगा मानसून!
👉भारत मे जून से सितंबर के दौरान वर्षा का पूर्वानुमान:- देश के किसानों और आम लोगों के लिए एक राहत भरी खबर आई है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग IMD ने वर्ष 2024 के लिए मानसून का दूसरा पूर्वानुमान जारी कर दिया है। मौसम विभाग ने इस साल देश में मानसून सीजन के दौरान सामान्य से अधिक वर्षा होने की भविष्यवाणी की है जो इससे पहले अप्रैल महीने में जारी किए गए पूर्वानुमान के मुताबिक़ ही है। मौसम विभाग के अनुसार इस साल पूरे देश में जून से सितंबर महीने के दौरान जमकर बारिश होने की संभावना है। 👉भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक़ दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के दौरान पूरे देश में लंबी अवधि के औसत (एलपीए) का 106 प्रतिशत बारिश होने की संभावना है, हालांकि इसमें 4 प्रतिशत कम या ज्यादा वर्षा भी हो सकती है। जो कि सामान्य से अधिक वर्षा है। बता दें कि लंबी अवधि के औसत एलपीए 87 सेमी है। यानि की इस वर्ष पूरे देश में 87 सेमी से अधिक वर्षा होने की संभावना है। 👉देश के अधिकांश हिस्सों में जमकर होगी बारिश:- दक्षिण-पश्चिम मॉनसून में जून से सितंबर, 2024 तक मध्य भारत और दक्षिण प्रायद्वीपीय भारत में सामान्य से अधिक (एलपीए का 106 प्रतिशत), उत्तर-पश्चिम भारत में सामान्य (एलपीए का 92-108%) और पूर्वोत्तर भारत (<एलपीए का 94 प्रतिशत) में सामान्य से कम वर्षा होने की संभावना है। मौसम विभाग के द्वारा जारी पूर्वानुमान में बताया गया है कि इस साल देश के अधिकांश हिस्सों में सामान्य से अधिक वर्षा होने की संभावना है, केवल उत्तर पश्चिम भारत के उत्तरी भाग के कई क्षेत्रों, पूर्वोत्तर भारत और मध्य भारत के पूर्वी भाग और पूर्वी भारत के निकटवर्ती क्षेत्र को छोड़कर, जहां सामान्य से लेकर सामान्य के नीचे बारिश होने की सबसे अधिक संभावना है। 👉अल-नीनो हुआ कमजोर:- मौसम विभाग की मानें तो इस वर्ष की शुरुआत में भूमध्यरेखीय प्रशांत क्षेत्र में देखी गई मजबूत अल नीनो स्थितियां तेजी से कमजोर होकर कमजोर अल नीनो स्थितियों में बदल गई हैं और वर्तमान में ईएनएसओ तटस्थ स्थितियों की ओर बढ़ रही हैं। नवीनतम जलवायु मॉडल पूर्वानुमानों से संकेत मिलता है कि मॉनसून के मौसम की शुरुआत के दौरान ईएनएसओ-तटस्थ स्थितियां स्थापित होने की संभावना है और मॉनसून के मौसम के बाद के भाग के दौरान ला नीना स्थितियां विकसित होने की संभावना है। 👉स्रोत:- AgroStar किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
24
0
अन्य लेख