कृषि वार्ताIndia.Com
इस विशेष पॉलिसी में करें 28 रुपये का निवेश, मिलेंगे 2 लाख!
LIC’s Special Policy:- 👉कम आय वर्ग के लोगों के लिए यह पॉलिसी बहुत लाभकारी है. जिनके आमदनी कम है, उनके लिए एलआईसी की यह बीमा पॉलिसी बड़े काम की है. यह सुरक्षा और बचत दोनों का कंबिनेशन है. अगर बीमाधारक की किसी दुर्घटना में मौत हो जाती है, तो यह पॉलिसी उसके परिजनों को वित्तीय सहायता प्रदान करती है. इसके साथ, पॉलिसी की परिपक्वता पर एकमुश्त भुगतान की सुविधा भी उपलब्ध है। 1- लोन की सुविधा भी मिलती है:- 👉इस माइक्रो बचत प्लान में बहुत से फीचर्स हैं. इस बीमा पॉलिसी योजना में 50,000 रुपये से लेकर 2 लाख रुपये तक बीमा लिया जा सकता है. यह एक नॉन लिंक्ड बीमा प्लान है. इस प्लान के अंतर्गत लोयल्टी का लाभ भी दिया जाता है. अगर किसी ने लगातार 3 साल तक प्रीमियम का भुगतान किया है तो इस माइक्रो सेविंग प्लान के अंतर्गत उसको लोन भी दिया जा सकता है। 2- कौन ले सकता है यह बीमा पॉलिसी? 👉यह बीमा पॉलिसी 18 साल से लेकर 55 साल तक के लोग ले सकते हैं. इसके लिए किसी भी तरह की मेडिकल जांच की आवश्यकता नहीं होती है. अगर किसी ने लगातार 3 साल तक प्रीमियम का भुगतान किया है और प्रीमियम का भुगतान किसी कारणवश नहीं किया है तो उसे 6 माह तक की मोहलत दी जाती है. तब तक रिस्क कवर जारी रहता है. अगर बीमाधारक ने 5 साल तक लगातार प्रीमियम का भुगतान किया है तो उसे इस सुविधा का लाभ 2 साल तक मिलता है. इस प्लान का नंबर 851 है। 3- कितने साल तक रहता है पॉलिसी का टर्म? 👉इस बीमा पॉलिसी का टर्म 10-15 साल का होता है. इस पॉलिसी में प्रीमियम का भुगतान सालाना, छमाही, तिमाही और मासिक आधार कर किया जा सकता है. इस पॉलिसी में बीमाधारक को प्रति हजार 51.50 रुपये के प्रीमियम का भुगतान करना पड़ता है. वहीं, दूसरी तरफ अगर किसी यह बीमा पॉलिसी 25 साल के लिए ली है तो उसे प्रति हजार 51.60 रुपये का भुगतान करना पड़ता है. यह राशि 35 साल के आयु वर्ग के लिए है. वहीं, 10 साल तक के बीमा के लिए प्रीमियम की दर प्रति हजार 84.45 रुपये से लेकर 91.90 रुपये प्रति हजार है. इसके साथ, प्रीमियम में 2 प्रतिशत की छूट भी मिलती है। 4- पॉलिसी सरेंडर करने की सुविधा:- 👉अगर, यह पॉलिसी लेने के बाद भी आप संतुष्ट नहीं हैं, तो 15 दिनों के अंदर सरेंडर कर सकते हैं. अगर कोई शख्स 15 साल के लिए यह पॉलिसी लेता है और उसकी उम्र 35 साल है और बीमा राशि 1 लाख रुपये है तो सालाना किस्त 5116 रुपये की आएगी. करेंट पॉलिसी पर 70 प्रतिशत लोन भी मिल सकता है. इसके साथ, पेड-पॉलिसी की राशि के लिए 60 प्रतिशत तक लोन मिल सकता है। 5- पॉलिसी का पूरा गणित समझिए:- 👉अगर किसी ने 35 साल की उम्र में यह पॉलिसी 15 साल के लिए ली है तो उसको बीमा की राशि का प्रति हजार 52.20 रुपये का सालाना भुगतान करना पड़ेगा. इसी तरह से अगर किसी ने 2 लाख रुपये का बीमा लिया है तो उसे सालाना आधार पर 10,300 रुपये का भुगतान करना होगा. यही प्रीमियम रोजाना आधार पर कैलकुलेट करें तो 28 रुपये प्रति दिन होता है. वहीं,मासिक आधार पर 840 रुपये का हिसाब आता है। 6- 80 सी के तहत मिलती है इनकम टैक्स में छूट:- 👉इस पॉलिसी में बीमाधारक को आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत छूट का भी प्रावधान किया गया है. इसके हिसाब से पेड अप पॉलिसी के 10.42 प्रतिशत की दर से लोन की सुविधा दी जाती है. इस पॉलिसी की मैच्योरिटी की अधिकतम उम्र की सीमा 70 साल तक की है. चूंकि यह बीमा पॉलिसी है इसलिए आपको इस पर आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत रिबेट भी दिया जाता है। स्रोत:- India.Com, 👉प्रिय किसान भाइयों अपनाएं एग्रोस्टार का बेहतर कृषि ज्ञान और बने एक सफल किसान। दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक 👍🏻 करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
6
4
संबंधित लेख