AgroStar
इस बिज़नेस में हैं कम इनवेस्‍टमेंट और ज्‍यादा मुनाफा!
बिज़नेस आईडियाAgrostar
इस बिज़नेस में हैं कम इनवेस्‍टमेंट और ज्‍यादा मुनाफा!
👉🏻अगर आप भी खेती के जरिए कमाई करने की योजना बना रहे हैं तो आपको तुलसी की खेती करनी चाहिए. तुलसी एक ऐसा पौधा है जिसके तना, फूल, पत्ती, जड़ और बीज को किसी न किसी रूप में प्रयोग में लाया जाता है. यह औषधीय गुणों से भरपूर है और अब कोविड-19 के बाद तो तुलसी की मांग में भारी इजाफा हो गया है। 👉🏻ऐसा आयुर्वेदिक चिकित्‍सा पद्ति की ओर लोगों के रुझान के कारण हुआ है. तुलसी की खेती के साथ अच्‍छी बात यह है कि इसके शुरू करने के लिए ज्‍यादा निवेश करने की जरूरत नहीं होती. साथ ही तुलसी की फसल तीन महीने में ही पककर तैयार हो जाती है. इसलिए इसमें मेहनत भी कम करनी होती होती है. आजकल बहुत सी आयुर्वेदिक दवा बनाने वाली कंपनियां तुलसी की कांट्रेक्‍ट फार्मिंग भी करवा रही हैं। ऐसे करें खेती - 👉🏻तुलसी के पौधों को खेत में लगाया जाता है. इसलिए किसी सरकारी रजिस्‍टर्ड नर्सरी से तुलसी के उन्‍नत किस्‍म के पौधे लाकर खेत में रोपाई करनी चाहिए. तुलसी की पौधों की रोपाई के अप्रैल का महीना उपयुक्‍त माना जाता है. कई कंपनियां तुलसी की कांट्रेक्‍ट फार्मिंग कराती हैं. वे पौधे किसान को स्‍वयं ही उपलब्‍ध कराती हैं. पौधों की रोपाई मेड़ पर और समतल खेत में की जा सकती है. मेड़ पर पौधे लगाने से सिंचाई करते वक्‍त पानी की बचत होती है. अगर मेड पर पौधे लगाएं तो मेड़ से मेड़ की दूरी दो फीट और पौधे से पौधे की दूरी भी दो फीट रखें. तुलसी के पौधों की रोपाई सूखी भूमि में की जाती है, इसलिए पौधों की रोपाई के तुरंत बाद उसकी पहली सिंचाई कर दी जाती है. साल में तुलसी के पौधों को 10 से 12 सिंचाई की आवश्यकता होती है। तीन महीने में फसल तैयार - 👉🏻तुलसी के पौधे रोपाई के तक़रीबन तीन महीने बाद कटाई के लिए तैयार हो जाते हैं. पौधों पर फूल आने और नीचे के पत्‍ते सूखने पर इसकी कटाई की जाती है. इसके काटे गए पौधों से तेल निकाला जाता है. तुलसी के एक हेक्टेयर के खेत से 20 से 25 टन की पैदावार प्राप्त हो जाती है. कुछ कंपनियां इसके पत्‍ते और शाखाओं को अलग-अलग खरीदती हैं. तो कुछ तेल के लिए सारे पौधे को। 👉🏻पौधे को जड़ के बिल्‍कुल करीब से नहीं काटा जाता बल्कि कुछ ऊपर से काटा जाता है. ऐसा इसलिए किया जाता है क्‍योंकि तुलसी का पौधा एक बार लगाने के बाद तीन साल तक पैदावार देता है. ऊपर से काटने के कारण पौधा दोबारा फुटाव ले लेता है. इस तरह साल में तीन कटाई तुलसी के पौधे की हो जाती है. सर्दियों में पाला पड़ने पर तुलसी की ग्रोथ धीमी हो जाती है। कितनी होगी कमाई - 👉🏻आमतौर पर एक एकड़ में तुलसी की खेती करने पर 20000 रुपये खर्च आता है. तुलसी के पौधे को एक बार लगाने के बाद तीन साल तक पैदावार ली जा सकती है. साल में तीन बार तुलसी के पौधे की कटाई होती है. तुलसी की खेती करने वाले किसानों का कहना है साल में तीन लाख रुपये तक की पैदावार हो जाती है. अगर कोई किसान इसकी प्रोसेसिंग यूनिट लगाकर वैल्‍यू एडिशन करके अपना माल बेचता है तो आमदनी बढ़ भी सकती है। स्त्रोत:- Agrostar 👉🏻किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
4
0
अन्य लेख