इस बार मानसून किसानों को करेगा मालामाल या कंगाल!
समाचारAgrostar
इस बार मानसून किसानों को करेगा मालामाल या कंगाल!
👉भारतीय किसानों के लिए एक अच्छी खबर है. इस साल मानसून में सामान्य बारिश होने की सम्भावना है. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग द्वारा वर्ष 2022 के लिए मानसून का पहला पूर्वानुमान जारी किया गया है. जिसमें ये अनुमान लगाया गया है कि देश में इस वर्ष भी मानसून सीजन में सामान्य वर्षा रहने का अनुमान है. भारतीय किसानों के लिए दक्षिण-पश्चिम मानसून का बहुत अधिक महत्व होता है. भारत में कई ऐसी जगह हैं जहां पर किसान खेती के लिए सिर्फ़ मानसूनी वर्षा पर ही निर्भर रहते है. IMD के अनुसार दक्षिण-पश्चिम मॉनसून (जून-सितम्बर, 2022) के दौरान औसत का 99% बारिश होने का पूर्वानुमान जारी कर दिया गया है. 👉 भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार ऑपरेशनल स्टैटिस्टिकल एनसेम्बल फोरकास्टिंग सिस्टम (एसईएफएस) पर आधारित पूर्वानुमान से पता चलता है कि मॉनसूनी बारिश लंबी अवधि के औसत (एलपीए) का 99 फीसदी होने की संभावना है, 👉जबकि 1971 से 2020 की अवधि के दौरान पूरे देश में मौसमी वर्षा का एलपीए 87 सेमी है. मौसम विभाग ने बताया है कि लगाए गए पूर्वानुमान में बारिश 5 फीसदी अधिक या कम हो सकती है. 2022 के मॉनसून सीजन जून से सितंबर के दौरान पूरे देश में मॉनसूनी वर्षा का औसत सामान्य एलपीए का 96 से 104 फीसदी रहने का अनुमान है. 👉मौसम विभाग के मुताबिक़ उत्तर प्रदेश के उत्तर एवं पश्चिमी क्षेत्रों, मध्य प्रदेश के अधिकांश पश्चिमी एवं उत्तरी ज़िलों, उत्तरी एवं पूर्वी राजस्थान के ज़िलों, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ के उत्तरी क्षेत्रों, तेलंगाना, आँध्र प्रदेश, कर्नाटक के उत्तरी ज़िलों, पूर्वी तमिलनाडु, पंजाब के कुछ ज़िलों, दक्षिणी गुजरात, उत्तराखंड, बिहार, उत्तरी झारखंड बिहार से सटे हुए ज़िलों में सामान्य या सामान्य से अधिक बरसात होने की सम्भावना है. स्त्रोत- Agrostar, 👉किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
46
6
अन्य लेख