योजना और सब्सिडीNews18
इस कारोबार में , सरकार देगी 85% तक सब्सिडी, जाने कैसे?
क्या है मधुमक्खी पालन का कारोबार? 🐝मधुमक्खी पालन एक ऐसा ही कारोबार है जिससे बड़ी संख्या में लोग कमाई कर रहे हैं. यह एक कम खर्चीला घरेलु उद्योग है. यह एक ऐसा रोजगार है जिसे समाज के हर वर्ग के लोग अपना कर लाभान्वित हो सकते है. मधुमक्खी पालन कृषि व बागवानी उत्पादन बढ़ाने की क्षमता भी रखता है. मधुमक्खियां मोन समुदाय में रहने वाली कीटों वर्ग की जंगली जीव है, इन्हें उनकी आदतों के अनुकूल कृत्रिम ग्रह (हईव) में पाल कर उनकी वृधि करने तथा शहद एवं मोम आदि प्राप्त करने को मधुमक्खी पालन या मौन पालन कहते है. इस क्षेत्र को पूरी तरह से प्रकृति पर निर्भर माना जाता है, लेकिन जब से खेती में विज्ञान और टेक्नोलॉजी के प्रयोग होने लगा है, तब से कृषि क्षेत्र एक बहुत ही बड़ा और विशाल क्षेत्र बन गया है. इसे कोई भी शुरू कर सकता है! 85% तक सब्सिडी देगी सरकार- 👉बता दें कि कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय ने ‘फसल उत्पादकता में सुधार के लिए मधुमक्खी पालन का विकास’ म से एक केंद्रीय योजना शुरू की है. इस योजना में इस सेक्टर को विकसित करना, प्रोडक्टिविटी बढ़ाना, प्रशिक्षण करना और जागरूकता फैलाना है. राष्ट्रीय मधुमक्खी बोर्ड (NBB) ने नाबार्ड (NABARD) के साथ मिलकर भारत में मधुमक्खी पालक व्यवसाय के वित्तपोषण की योजनाएं बनाई हैं. वे इस क्षेत्र में महिलाओं के रोजगार के लिए सहायता भी प्रदान करते हैं. आप निकटतम राष्ट्रीय मधुमक्खी बोर्ड कार्यालय में जा सकते हैं या वेबसाइट से जानकारी ले सकते हैं. बता दें कि सरकार मधुमक्खी पालन पर 80 से 85% तक सब्सिडी देती है. इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए लाभ उठा सकते हैं! कैसे होगी हर महीने लाखों में कमाई? 👉आप इस व्यवसाय को कम से कम निवेश में शुरू कर सकते हैं. आपको इससे हर महीने 5 लाख तक की कमाई होगी. आइए जानते हैं कैसे - 👉बाजार में शहद की मौजूदा कीमत = 500 रुपये (विभिन्न ब्रांडों पर निर्भर करता है). तो मान लीजिए कि आपको प्रति बॉक्स 1000 किलोग्राम की उपज मिलती है, तो आपको = 5,00000 रुपये (5 लाख) कमाई होगी! 👉मान लीजिए कि आप 50 Colonies बनाते हैं, कुल आय = 2, 5000000 रुपये (2 करोड़) होगी. यह औसत डेटा है, इसे आप कुछ Colonies से भी शुरू कर सकते हैं और शहद का उत्पादन कर सकते हैं. इस व्यवसाय को चलाने के कुछ वर्षों के भीतर, आपकी कमाई की क्षमता बहुत जल्द करोड़ों रुपये हो जाएगी! 🐝मधुमक्खी मोम (Bee Wax)- यह मधुमक्खियों द्वारा बनाया गया एक वास्तविक कार्बनिक मोम है. बाजार में इसकी औसत कीमत 300 से 500 रुपये प्रति किलो है. रिपोर्ट्स के मुताबिक मधुमक्खी के डिब्बे या डिब्बे में 50 से 60 हजार मधुमक्खियों को रखा जा सकता है. इससे 1 क्विंटल तक शहद उत्पादन प्राप्त किया जा सकता है. 👉आप अपने इस कारोबार को प्रमोट करने के लिए ऑनलाइन प्रचार कर सकते हैं. शहद का उपयोग करने के लाभों पर उपभोक्ताओं को शिक्षित करने के लिए एक वेबसाइट बनाएं और नियमित ब्लॉग जारी करें! स्त्रोत:- News18 👉 प्रिय किसान भाइयों अपनाएं एग्रोस्टार का बेहतर कृषि ज्ञान और बने एक सफल किसान। दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक 👍 करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
32
7
अन्य लेख