एग्री डॉक्टर सलाहRSMBP
इसबगोल की बीज दर एवं बुवाई की विधि!
किसान भाइयों इसबगोल का बीज बहुत छोटा है इसलिये इसे क्योरियों मे छिडककर अथवा कतारो मे बो सकते है। छिडकाव विधि की तुलना में बीजों को कतारों में बोने से अधिक लाभ होता है। कृषि महाविद्यालय मदंसौर मे किये गये अनुसंधानों में 25-30 सेमी. की दूरी पर कतारों में 1 सेमी. गहराई पर 5-6 किग्रा. बीज प्रति हेक्टेअर बुवाई करना उत्तम माना गया है। छिडकवा विधि से बोने पर 8-10 किग्रा बीज प्रति हेक्टेअर की आवश्यकता होती है। बीज बोने के बाद हल्की सिंचाई करना आवश्यक है। अंकुरण 5-6 दिन में हो जाता है। 7-8 दिन तक अंकुरण नही दिखने पर एक हल्की सिंचाई और करनी चाहिए। अंकुरण की सही क्षमता प्राय: 80 प्रतिशत तक रहती है। इसके बीजो को 3 ग्राम थायरम या डायथेन एम-45 से उपचारित करने के पश्‍चात् ही बोना चाहिए। 👉🏻 खेती तथा खेती सम्बंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए कृषि ज्ञान को फॉलो करें। फॉलो करने के लिए अभी क्लिक ulink://android.agrostar.in/publicProfile?userId=558020 करें।
स्रोत:- RSMBP, प्रिय किसान भाइयों दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक👍करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
25
1
अन्य लेख