एग्री डॉक्टर सलाहएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
आलू में कंदों के अच्छे विकास के लिए!
आलू में कंदों के अच्छे विकास के लिए खाद एवं उर्वरको का उपयोग मृदा परीक्षण की अनुशंसा के अनुसार करना चाहिए। आलू की फसल को 70-80 किलोग्राम नत्रजन, 32-35 किलोग्राम फॉस्फोरस एवं 35-40 किलोग्राम पोटेशियम प्रति एकड़ की आवश्यकता होती है। सामान्तया आलू की फसल में प्रति एकड़ 100 क्विंटल गोबर की खाद, 140 किलोग्राम कैल्शियम अमोनियम नाइट्रेट, 200 किलोग्राम सिंगल सुपर फॉस्फेट, 68 किलोग्राम म्यूरेट ऑफ पोटाश प्रति एकड़ बुआई के पूर्व खेत मे डाले। 50 किलोग्राम यूरिया प्रति एकड़ मिट्टी चढाते समय देनी चाहिए। यदि मृदा में जिंक की कमी हो तो 10 किलोग्राम जिंक सल्फेट प्रति एकड़ की दर से रोपाई के पूर्व खेत मे मिलाएं। स्रोत:- एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस, प्रिय किसान भाइयों अपनाएं एग्रोस्टार का बेहतर कृषि ज्ञान और बने एक सफल किसान। यदि दी गई जानकारी आपको उपयोगी लगी, तो इसे लाइक 👍 करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
13
4
अन्य लेख