AgroStar
सभी फसलें
कृषि ज्ञान
कृषि चर्चा
अॅग्री दुकान
आलू की फसल में खरपतवार का प्रबंधन !
गुरु ज्ञानAgroStar
आलू की फसल में खरपतवार का प्रबंधन !
➡ आलू की फसल में सकरी पत्तियों के साथ चौड़ी पत्ती वाले खरपतवार भी पाए जाते हैं। ➡ सकरी पत्तियों की तुलना में चौड़ी पत्तियों वाले खरपतवार अधिक होते हैं। ➡ अगर आप आलू की खेती कर रहे हैं तो आपकी खेत में बथुआ, मोथा, सेंजी, वनसोया, हिरणखुरी, बनप्याजी, बनगेहूं, जंगली जई, चौलाई, कृष्णनील, मकोय, दूब घास, पत्थरचट्‌टा, कासनी, अंकरी, आदि खरपतवारों की समस्या ज्यादा होती है। ➡ समय रहते अगर इन्हे नष्ट नहीं किया गया तो फसलों की पैदावार एवं गुणवत्ता में भारी कमी आ सकती है। ➡ खरपतवार पर नियंत्रण के लिए कुछ समय के अंतराल पर निराई-गुड़ाई करते रहें। ➡ आलू की फसल में अंकुरण पूर्व (pre-emergence) खरपतवार नाशक का छिड़काव से सकरी एवं चौड़ी पत्ती के खरपतवार नियंत्रित कर सकते हैं | ➡ पावर ग्रो वारिस (Metribuzin 70% WP) 200 - 250 ग्राम प्रति एकर 200 लीटर पानी में घोल बनाकर फ़्लैट पॅन / कट नोज़ल से छिड़काव करें | ➡ खरपतवारनाशक का प्रयोग करते समय इस बात का ध्यान रखें कि खेत में पर्याप्त मात्रा में नमी हो। नमी की कमी होने पर खरपतवारनाशक का असर कम हो सकता है। ➡ स्त्रोत:- AgroStar किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट 💬करके ज़रूर बताएं और लाइक 👍एवं शेयर करें धन्यवाद।
18
0
अन्य लेख