AgroStar
सभी फसलें
कृषि ज्ञान
कृषि चर्चा
अॅग्री दुकान
अब हर किसान को करना होगी फार्मर रजिस्ट्री!
समाचारAgroStar
अब हर किसान को करना होगी फार्मर रजिस्ट्री!
👉अब किसान को सरकारी सुविधा का लाभ उठाने के लिए फार्मर रजिस्ट्री प्रक्रिया को पूरा करना होगा, जिसके बाद उन्हें एक कार्ड प्राप्त होगा. ताकि वह आसानी से सभी सरकारी सुविधा का लाभ उठा सके. यहां जानें फार्मर रजिस्ट्री 2024 से जुड़ी सभी जानकारी. 👉भारत सरकार के द्वारा किसानों की मदद के लिए कई तरह की स्कीम चलाई जाती हैं, जिसकी तहत किसान अपनी आर्थिक स्थिति में सुधार कर सकें. लेकिन अब से किसानों को सरकार की किसी भी सरकारी सुविधा का लाभ उठाने के लिए फार्मर रजिस्ट्री करवाना जरूरी होगा. अब आप यह सोच रहे होंगे कि फार्मर रजिस्ट्री क्या है और यह कैसे काम करता है इसके लिए किसान को क्या-क्या करना होगा. तो घबराए नहीं आज हम अपने इस लेख में आपको फार्मर रजिस्ट्री 2024 से जुड़ी सभी जानकारी के बारे में विस्तार से बताएंगे. ताकि आप सरलता से इसका लाभ उठा सके. 👉फार्मर रजिस्ट्री क्या है? फार्मर रजिस्ट्री में किसान से जुड़ी सभी जानकारी सरकार के पास उपलब्ध होती है. इसमें किसानों के भूलेख डाटाबेस को एक साथ करके बकेट तैयार किया जाता है. ताकि किसानों की सभी जानकारी ऑनलाइन प्राप्त हो सके. फार्मर रजिस्ट्री करने के बाद किसान की एक यूनिक आईडी बनती है और साथ ही एक गोल्डन कार्ड भी बनाया जाता है. इस कार्ड में किसान की सभी जानकारी होती है. 👉फार्मर रजिस्ट्री के बाद मिलेगी ये सभी सुविधा:- किसान की फार्मर रजिस्ट्री होने के बाद वह सरलता से फसली ऋण, फसली बीमा, आपदा राहत, परामर्श आदि सुविधाओं का लाभ उठा पाएंगे. ये ही नहीं बल्कि दिसंबर में जारी होने वाले पीएम किसान सम्मान निधि योजना की 19वीं किस्त का लाभ भी उन्हीं किसानों को मिलेगा, जिन्होंने फार्मर रजिस्ट्री प्रक्रिया को पूरा किया होगा. 👉हर दिन 18-19 हजार किसानों का फार्मर रजिस्ट्री का लक्ष्य:- फार्मर रजिस्ट्री के लिए सरकार ने हर दिन करीब 18-19 हजार किसानों का रजिस्ट्रार का लक्ष्य रखा गया है. इस कार्य को पूरा करने के लिए गांव-गांव में शिविर लगाए जाएंगे, ताकि किसानों का फार्मर रजिस्ट्री पंजीयन हो सके और किसान भी सरलता से अपने ही गांव में पंजीयन करवा सके. 👉फार्मर रजिस्ट्री के लिए कागजात:- फार्मर रजिस्ट्री के लिए पंजीयन करने के लिए उनका आधार नंबर खतौनी मोबाइल नंबर आधार से लिंक होना जरूरी है. इसके बाद ही किसान को एक यूनिक नंबर जारी किया जाएगा. फिर जब किसान की पंजीयन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी. किसान को एक गोल्डन कार्ड प्राप्त होगा. जिसकी मदद से किसान को सरकारी सुविधा का लाभ मिलेगा. 👉स्रोत:-AgroStar किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद।
20
0
अन्य लेख