AgroStar
सभी फसलें
कृषि ज्ञान
कृषि चर्चा
अॅग्री दुकान
अब खेत बनेंगे पेट्रोल के कुएँ!
कृषि वार्ताAgroStar
अब खेत बनेंगे पेट्रोल के कुएँ!
▶ देश में किसानों की आय दोगुनी करने के लिए सरकार द्वारा कई कदम उठाये जा रहे हैं, इसके लिए सरकार द्वारा कई योजनाएँ शुरू की गई है। इस कड़ी में अब सरकार ने दलहन एवं मक्का की खेती करने वाले किसानों के लिए नई पहल शुरू की है। इसमें सरकार किसानों से सीधे न्यूनतम समर्थन मूल्य या उससे अधिक दाम पर दलहन फसल ख़ासकर तूर दाल के साथ ही मक्का की खरीद करेगी। इसके लिए सरकार ने किसानों के पंजीकरण, खरीद एवं भुगतान के लिए पोर्टल शुरू किया है। ▶ तूर दाल उत्पादक एवं मक्का उत्पादक किसानों के पंजीकरण, खरीद एवं भुगतान के लिए भारतीय राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन संघ (NAFED) और भारतीय राष्ट्रीय सहकारी उपभोक्ता संघ लिमिटेड (NCCF) द्वारा विकसित पोर्टल का लोकार्पण किया। पोर्टल पर मक्का किसानों के लिए जल्द पंजीयन शुरू किए जाएँगे। ▶ मक्का के खेत बनेंगे इथेनॉल बनाने वाली फैक्ट्री देश में सरकार ने पेट्रोल के साथ 20 प्रतिशत इथेनॉल मिलाने का लक्ष्य रखा है और 20 प्रतिशत इथेनॉल मिलाने लिए लाखों टन इथेनॉल के उत्पादन की आवश्यकता होगी। अभी पेट्रोल में 10 प्रतिशत तक का इथेनॉल मिलाया जा रहा है जो गन्ने से प्राप्त हो रहा है। ऐसे में सरकार इथेनॉल का उत्पादन बढ़ाने के लिए मक्के का उपयोग करने वाली है, जिससे मक्का किसानों को सीधे फायदा होगा। ▶ नाफेड और एनसीसीएफ तूर खरीदी के पैटर्न पर आने वाले दिनों में मक्के का रजिस्ट्रेशन चालू करने वाली है, जो किसान मक्का बोएगा, उसके लिए हम सीधा इथेनॉल बनाने वाली फैक्ट्री के साथ एमएसपी पर मक्का बेचने की व्यवस्था कर दी जाएगी, जिससे उनका कोई शोषण नहीं होगा और पैसा सीधा उनके बैंक अकाउंट में जाएगा। उन्होंने कहा कि इससे किसानों का खेत मक्का उगाने वाला नहीं बल्कि पेट्रोल बनाने वाला कुआँ बन जाएगा। ▶ देश के पेट्रोल के लिए इम्पोर्ट की फॉरेन करेंसी को बचाने का काम देश के किसानों को करना चाहिए। सहकारिता मंत्री ने कहा कि वे देशभर के किसानों से अपील करना चाहते हैं कि हम दलहन के क्षेत्र आत्मनिर्भर बनें और पोषण अभियान को भी आगे बढ़ायें। सरकार ने तूर उत्पादक किसानों से सीधे तूर की ख़रीदी के लिए https://esamridhi.in/ पोर्टल शुरू किया है। पोर्टल पर NAFED और NCCF के द्वारा किसानों से सीधे तूर की उपज ख़रीदेगी। पोर्टल पर सीधे किसानों को एडवांस में रजिस्ट्रेशन कर तूर दाल की बिक्री की सुविधा मिलेगी साथ ही उन्हें MSP या फिर इससे अधिक के बाजार मूल्य का डीबीटी के जरिए भुगतान किया जाएगा। ठीक इसी तर्ज़ पर आने वाले समय पर सरकार किसानों से मक्का की खरीदी करेगी। ▶ स्त्रोत:- AgroStar किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट 💬करके ज़रूर बताएं और लाइक 👍एवं शेयर करें धन्यवाद।
6
0
अन्य लेख