AgroStar
सभी फसलें
कृषि ज्ञान
कृषि चर्चा
अॅग्री दुकान
अब किसानों का होगा फायदा ही फायदा !
योजना और सब्सिडीAgroStar
अब किसानों का होगा फायदा ही फायदा !
👉अब सरकार नीम की खेती को प्रोत्साहित करने के लिए योजना के माध्यम से किसानों को लाभ देने वाली है, भारत में प्राचीन काल से ही नीम का उपयोग कई कार्यों में किया जाता है, इसमें कृषि और स्वास्थ्य प्रमुख है। आज के समय में नीम विदेशों में भी अत्यंत अहम पौधा बन गया है। कृषि क्षेत्र में नीम का उपयोग यूरिया कोटिंग से लेकर कई तरह की कीट-रोगों से फसलों को बचाने में किया जा रहा है। इस विषय पर चर्चा के लिए नीम शिखर सम्मेलन और वैश्विक नीम व्यापार मेले का आयोजन ICAR-केंद्रीय कृषि वानिकी अनुसंधान संस्थान, झांसी के सहयोग से नई दिल्ली में 19-20 फरवरी 2024 किया गया। 👉नीम शिखर सम्मेलन और वैश्विक नीम व्यापार मेले का मुख्य उद्देश्य नीम लेपित यूरिया, नीम पर आधारित कीटनाशक और नीम पर आधारित स्वास्थ्य उत्पादों को बढ़ावा देना है। इसके लिए देश में नीम का उत्पादन बढ़ाने और इसका लाभ देश के किसानों को दिया जाना है। इस कार्यक्रम में 10 विदेशियों सहित लगभग 250 प्रतिभागी भाग ले रहे हैं कृषि, स्वास्थ्य, और पर्यावरण के लिए नीम लाभकारी है। 👉पर्यावरण को होगा लाभ वर्ल्ड नीम आर्गेनाइजेशन (डब्ल्यूएनओ) के अध्यक्ष ने नीम को प्रकृति का सबसे अनोखा उपहार बताया है, जो सभी मानव ,जानवरों और फसलों के लिए वरदान है। नीम के पौधों का प्रत्येक भाग मानव जीवन के लिए अहम है। जलवायु परिवर्तन में बढ़ते तापमान को कम करने में नीम का अहम योगदान हो सकता है। नीम के पेड़ के आसपास तापमान और ऑक्सीजन ज्यादा होती है, जो इंसान से लेकर पशु तक के लिए फायदेमंद है। 👉नीम के पौधे फसलों और फलों की बागवानी के लिए बड़े पैमाने पर उपयोग करने की जरूरत है। इससे हेल्दी फूड वाली खेती भी हेल्दी रहेगी। नीम के उत्पाद कृषि में लागत को कम करने के साथ पर्यावरण हितैषी हैं। नीम शिखर सम्मेलन में नीम को वृक्षारोपण वानिकी के विकल्प के रूप में चिह्नित किया गया, जो उद्योग की कच्चे माल की आवश्यकताएँ पूरी करेगा। 👉स्त्रोत:- AgroStar किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट 💬करके ज़रूर बताएं और लाइक 👍एवं शेयर करें धन्यवाद।
15
0
अन्य लेख