सलाहकार लेखNews 18
अपनी फसल के उत्पादन में कैसे करे बढ़ोतरी, जाने 7 टॉप तरीके!
🌾कोरोना काल में ताजा सब्जी, फल हर कोई चाहता है. फिर यदि यह खुद की उगाई हो तो फिर बात ही अलग है. यदि आपके पास भी थोड़ी सी जमीन है तो आप खुद ही खेती कर उनका उत्पादन कर सकते हैं. यही नहीं फसल का बंपर उत्पादन हासिल कर सकते हैं. आइये जानते हैं उन 7 तरीको के बारे में जिसने हम बम्पर उत्पादन पा सकते हैं- बुवाई से पहले अपने बीजों को तैयार करें- 👉बुवाई से पहले बीज तैयार करना आवश्यक है. इसे समझने के लिए मूंगफली का उदाहरण लें. रोपण के लिए बीज तैयार करने से पहले, थियामेथोक्सम 30 एफएस (शाइनस्टार प्लस) का छिड़काव करने की सिफारिश की जाती है ताकि बीज कोटेड हो जाएं (कवर के साथ सावधानी बरतते हुए). यह पौधे को मजबूत होने और मिट्टी से बेहतर पोषण को सोखने में मदद करता है. सूक्ष्म पोषक तत्वों का संतुलित आहार है जरूरी- 👉फसलों को पोषण प्रदान करने के लिए डीएपी का उपयोग करते समय आवश्यक है कि हमें उन विभिन्न सूक्ष्म पोषक तत्वों को भी याद रखना चाहिए जिनकी कम मात्रा में आवश्यकता होती है और यह अच्छी फसल प्राप्त करने के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण हैं. इन सूक्ष्म पोषक तत्वों में मुख्य रूप से जिंक, बोरॉन आदि होते हैं और ये मिट्टी को उर्वर करते हैं. मजबूत जड़ें बेहतर फसल का आधार बनाती हैं- 👉जिबरेलिक एसिड फसलों को एक मजबूत जड़ प्रणाली विकसित करने में मदद करने के लिए अच्छा होता है. पौधे के लिए मजबूत जड़ प्रणाली अत्यंत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह जड़ों को पोषक तत्वों को अधिक कुशलता से सोखने में सहायता करती है और ओवरऑल फसल शक्ति भी बढ़ाती है. कीटों का प्रबंधन- 👉महामारी और कीटों के हमलों को नियंत्रित करना है तो कीट का पता लगाने के लिए सामान्य स्थानों की नियमित निगरानी की सिफारिश की जाती है. ऐसे चरणों में सतर्कता अत्यंत आवश्यक है. विशेषज्ञों की सलाह लेना- 👉यदि आप भ्रमित महसूस कर रहे हैं, तो कृषि के क्षेत्र में प्रमाणित विशेषज्ञों से संपर्क करना सबसे अच्छा है जो आपकी शंकाओं को दूर करने में आपकी मदद कर सकते हैं. ये विशेषज्ञ खेती से संबंधित कई मुद्दों पर महत्वपूर्ण सलाह दे सकते हैं जैसे कि पौधे की रहस्यमय बीमारी या अज्ञात फसल कीट जो आपके खेत को खतरे में डाल सकते हैं! फसल चक्रण महत्वपूर्ण कुंजी है- 👉फसल चक्र का महत्व बहुत अधिक है. यह मिट्टी को फिर से जीवंत करके और एक ही फसल को जुनूनी रूप से उगाने के साथ आने वाले अतिरिक्त दबाव को दूर करके नए जीवन को सांस लेने में मदद करता है. यह ध्यान रखना आवश्यक है कि जहां कुछ फसलें मिट्टी से पोषक तत्वों को अवशोषित करती हैं, वहीं अन्य फसलें भी होती हैं जो उन्हें जोड़ती हैं. इसलिए, विभिन्न फसलों की खेती के लिए पोषक तत्वों से भरपूर मिट्टी-बिस्तर बनाने के लिए दोनों पहलुओं को संतुलित करना अनिवार्य है. यह मिट्टी को व्यवस्थित रूप से पोषण देने में सहायक साबित होता है जो बदले में उच्च फसल उपज की सुविधा प्रदान करता है. दक्षता बढ़ाने वाले एजेंट- 👉पानी में फैलने की क्षमता सीमित होती है और दवा का छिड़काव केवल पत्ती के कुछ हिस्सों में ही होता है. सेफेक्स के विशेषज्ञ किसानों को स्प्रे की प्रभावशीलता बढ़ाने के लिए वेलवेट जैसे गीले और फैलाने वाले एजेंटों में बेस्ट उपयोग करने की सलाह देते हैं. इस तरह के उत्पाद का उपयोग करने से पानी की सतह का तनाव कम हो जाता है और इस तरह इसकी प्रसार दर 10 गुना प्रभावशाली बढ़ जाती है. इसलिए, अब बहुत अधिक पारगम्यता सुनिश्चित करना संभव है जो समान मात्रा में दवा के साथ पूरे पत्ते में फैलती है. दवा का यह लगातार एपिडर्मल लेयरिंग पौधे को विभिन्न प्रकार के कीटों से बचाता है, जिससे किसान की ओर से कम प्रयास और अधिक लागत प्रभावी होती है. स्त्रोत:- News18 👉 प्रिय किसान भाइयों अपनाएं एग्रोस्टार का बेहतर कृषि ज्ञान और बने एक सफल किसान। दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक 👍 करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
7
3
अन्य लेख