क्षमाा करें, यह लेख आपके द्वारा चुनी हुई भाषा में नहीं है।
Agri Shop will be soon available in your state.
सलाहकार लेखएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
अनार की खेती कर अधिक लाभ कमाएं!
• अनार की राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय बाजार मांग अधिक है। जिससे किसान भाई इसकी खेती कर अधिक लाभ कमा सकते हैं। _x000D_ • अनार की प्रत्यारोपण का उचित समय फरवरी-मार्च और जुलाई-अगस्त है। _x000D_ • अनार की रोपाई करने लिए एक माह पूर्व गड्डे तैयार किये जाते हैं। _x000D_ • गड्डे तैयार करने का उचित समय अप्रैल - मई माह है। _x000D_ • गड्डे तैयार का उचित आकर 75*75*75 सेंटीमीटर लम्बाई * चौड़ाई * गहराई होना चाहिए। _x000D_ • गड्डे तैयार होने बाद एक से डेढ़ माह खुला छोड़ दे, जिससे जमीन में उपस्थित फफूंद और कीट नष्ट हो जायेंगे। _x000D_ • जून के प्रथम सप्ताह में गड्डों को भरते है इनको भरते समय मिट्टी का उपचार करते हैं। कार्बेन्डाजिम 1 ग्राम को 1 लीटर पानी में घोलकर प्रति गड्डा 4 से 5 लीटर से गड्डे को भरें। _x000D_ • क्लोरोपायरीफॉस 50 ग्राम 15 किलोग्राम सड़ी हुई गोबर खाद, 2 किलोग्राम केंचुआ खाद 1 किलोग्राम नीम की खली को अच्छी तरह मिलाकर प्रति गड्डे के हिसाब से दें।_x000D_ • ट्राइकोडर्मा 25 ग्राम, पी एस बी कल्चर 25 ग्राम, एजेक्टोबेक्टर 25 ग्राम और साथ में 15 ग्राम स्यूडोमोनास सभी को खाद और मिट्टी के साथ मिलाकर गड्डों में डालें। _x000D_ • अनार के पौधों का अंतराल पौधे से पौधे की दूरी 3 मीटर और पंक्ति से पंक्ति की दूरी 4 मीटर रखते हैं। _x000D_ • हमें बाजार की मांग के अनुसार किस्मों का चयन करना चाहिए जैसे- भगवा। जिनकी बाजार मांग अधिक है। _x000D_ • अनार के लिए ड्रिप सिंचाई उपयुक्त होती है। इसके द्वारा उर्वरक आसानी से दिए जा सकते हैं। _x000D_ • शुरुआत के मिश्रित फसल लगा सकते हैं। _x000D_ • रोग एवं कीटों का उचित प्रबंध करें। पौधों में बोर्डों मिक्चर जरूर लगाएं। _x000D_ • प्रति एकड़ में 300 पौधे हैं, जिसमे प्रति पौधा से 25 किलोग्राम तक उपज मिलती है। _x000D_ _x000D_ स्रोत - एग्रोस्टार एग्रोनॉमी एक्सीलेंस सेंटर_x000D_ यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे तो लाइक करें और अपने सभी किसान मित्रों के साथ जरूर शेयर करें।_x000D_ _x000D_
87
1
संबंधित लेख