योजना और सब्सिडीTV9
अंतिम तारीख है नजदीक,करवा लें पीएम फसल बीमा!
💵प्राकृतिक आपदाओं से हर साल लाखों एकड़ फसल खराब हो रही है, जिसकी वजह से किसानों को भारी नुकसान का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे किसानों के लिए पीएम फसल बीमा योजना कवच बनकर उभर रही है. साल 2020-21 में 613.6 लाख किसानों ने इसमें आवेदन किया है. इसमें आप भी कुछ कागजातों को देकर आवेदन करवा सकते हैं! 👉 ज्यादातर राज्यों में 31 जुलाई इसकी अंतिम तारीख है. ऐसे में अब आपके पास इसमें शामिल होने के लिए सिर्फ तीन दिन का वक्त बचा है! कृषि मंत्री ने की अपील- 👉 केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किसानों से बीमा करवाने की अपील की है, ताकि किसी भी प्राकृतिक आपदा से फसल नुकसान का जोखिम कम किया जा सके. उन्होंने बताया कि योजना की शुरूआत से दिसंबर-2020 तक किसानों ने लगभग 19 हजार करोड़ रुपये का प्रीमियम भरा, जिसके बदले उन्हें लगभग 90 हजार करोड़ रुपये का भुगतान क्लेम के रूप में मिला! इन कागजातों की जरूरत- -खेती योग्य जमीन का दस्तावेज -भूमि कब्जा प्रमाण पत्र -आधार कार्ड (Aadhaar Card) -प्रथम पृष्ठ-बैंक खाता के विवरण के साथ बैंक पासबुक. -फसल बुआई प्रमाण पत्र (यदि राज्य सरकार की अधिसूचना में अनिवार्य किया गया हो) -बटाईदार किसानों या किराए पर ली गई जमीन पर भी बीमा की सुविधा. -ऐसे लोगों के लिए भूमि मालिक के साथ समझौता, किराया या पट्टा दस्तावेज! यहां करें आवेदन- -बैंक शाखा, सहकारी समिति -जन सेवा केंद्र -पीएमएफबीवाई पोर्टल (www.pmfby.gov.in) पर. -इंश्योरेंस कंपनी या कृषि कार्यालय! बदल सकते हैं बीमित फसल- 👉 यदि कोई किसान पहले से तय फसल को बदलना चाहता है तो उसे अंतिम तारीख से कम से कम दो दिन पहले (29 जुलाई तक) बदलाव के लिए अपने बैंक को ही सूचित करना होगा. जिस किसान के पास केसीसी नहीं है वो कस्टमर सर्विस सेंटर या बीमा कंपनी के प्रतिनिधि से अपनी फसलों का बीमा करवा सकता है! स्त्रोत:- TV9 👉 प्रिय किसान भाइयों अपनाएं एग्रोस्टार का बेहतर कृषि ज्ञान और बने एक सफल किसान। दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक 👍 करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
10
5
अन्य लेख