Looking for our company website?  
A
Anand Patel
Satna, Madhya Pradesh
16 Sep 19, 03:10 PM

dhan me khera

0
0
1
1
टिप्पण्या (1)
एग्रोस्टार एग्रीडॉक्टर
Rajasthan
16 Sep 19, 03:16 PM

नमस्कार पटेल जी, एग्रोस्टार परिवार में आपका स्वागत है। खैरा रोग धान में लगने वाला एक रोग है,जो जिंक की कमी के कारण होता है। इसमे पत्तियो पर हल्के पीले रंग के धब्बे बनते हैं जो बाद में कत्थई रंग के हो जाते है। पौधा बौना रह जाता है और व्यात कम होती है। प्रभावित पौधो की जडे भी कत्थई रंग की हो जाती है। इसके नियंतरण के लिए आप यूरिया 25 किलोग्राम  + जिंक सलफेट @ 10 किलोग्राम / एकड़ की दर से प्रयोग करें। इससे फसल में बराबर कल्ल्हे निकलेंगे और पौधों में हरापन आएगा । आप इसी तरह अपनी फसल की फोटो एवं समस्या एवं आपके अनुभव यहाँ शेयर करें। ताकि हम किसान भाइयों की उन्नति मे मिलजुलकर सहायता करें। धन्यवाद I एग्री डॉ. पाठक।