कृषि वार्ताआउटलुक एग्रीकल्चर
गेहूं की सरकारी खरीद 10 फीसदी पिछड़ी
चालू रबी विपणन सीजन 2019-20 में गेहूं की न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर खरीद 10.28 फीसदी पिछड़कर 265.29 लाख टन ही हुई है जबकि पिछले साल रबी में इसकी खरीद 294.70 लाख टन की हुई थी। चालू रबी में गेहूं की कुल खरीद तय लक्ष्य 356.50 लाख टन से कम रहने की आशंका है। भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि उत्पादक राज्यों में अप्रैल में बेमौसम बारिश ओलावृष्टि से फसल की आवक में देरी हुई,
जिसके कारण चालू रबी में गेहूं की खरीद पीछे चल रही है। हालांकि, सप्ताहभर से उत्पादक मंडियों में गेंहू की दैनिक आवक का दबाव बना है, इसलिए सरकारी खरीद भी बढ़ने लगी है। चालू रबी में एमएसपी पर गेहूं की खरीद का लक्ष्य 356.50 लाख टन का तय किया गया है। इस बार केंद्र सरकार ने गेहूं का एमएसपी 1,840 रुपये प्रति क्विंटल तय किया हुआ है। कृषि मंत्रालय के दूसरे अग्रिम अनुमान के अनुसार चालू फसल सीजन 2018-19 में गेहूं का रिकार्ड 991.2 लाख टन का उत्पादन होने का अनुमान है। स्रोत – आउटलुक एग्रीकल्चर, 8 मई 2019 यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
12
0
संबंधित लेख