सलाहकार लेखएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
सहजन में पोषक तत्व प्रबंधन
• सहजन साल में दो बार खिलते हैं और उस समय उर्वरक का उपयोग करना आवश्यक होता है। • रासायनिक खाद के साथ प्रति एकड़ 10 से 12 टन गोबर खाद दें। • प्रति एकड़ @ 50 किलो यूरिया, 50 किलोग्राम डीएपी और 50 किलो पोटाश खाद डालें। उसके बाद 30 से 40 दिनों के बाद फिर से 50 किलो यूरिया देना चाहिए। • मृदा परीक्षण के बाद मिट्टी के प्रकार और पौधों की वृद्धि के अनुसार नाइट्रोजन की खुराक बढ़ाएं। • पहली बहार के बाद जब दूसरी बहार आए तो ऊपर दिए उर्वरक प्रबंधन का पालन करें। • साल में दो बार रासायनिक उर्वरक का उपयोग करने के अलावा, सहजन के रंग और गुणवत्ता में सुधार के लिए जैविक खाद का उपयोग करें। यदि अतिरिक्त शाखा विकसित होती हैं, तो नाइट्रोजन की मात्रा कम होनी चाहिए। • सहजन छोटे हों और फूल गिरने लगें तो फॉस्फोरस उर्वरक की खुराक बढ़ाएं। संदर्भ: एग्रोस्टार एग्रोनॉमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस
यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
503
11
संबंधित लेख