सलाहकार लेखउत्तर प्रदेश कृषि विभाग
सरसों में आरा मक्खी का नियंत्रण!
👉🏻किसान भाइयों सरसों की फसल में लगने वाली आरा मक्खी कीट की सूड़िया काले स्लेटी रंग की होती है जो पत्तियों को किनारों से अथवा पत्तियों में छेद कर तेजी से खाती है, तीव्र प्रकोप की दशा में पूरा पौधा पत्ती विहीन हो जाता है। 👉🏻गर्मी में गहरी जुताई करनी चाहिए। 👉🏻संतुलित उर्वरकों का प्रयोग करना चाहिए। 👉🏻आरा मक्खी की सूड़ियों को प्रातः काल इकठ्ठा कर नष्ट कर देना चाहिए। 👉🏻प्रारम्भिक अवस्था में झुण्ड में पायी जाने वाली बालदार सूडियाँ पत्तियों को तोड़कर नष्ट कर देना चाहिए। 👉🏻प्रारम्भिक अवस्था में माहूँ से प्रभावित फूलों, फलियों एवं शाखाओं को तोड़कर माहूँ सहित नष्ट कर देना चाहिए। 👉🏻आरा मक्खी एवं बालदार सूँडी के नियंत्रण के लिए क्यूनालफास 25 प्रतिशत ई.सी. की 600 मिली० प्रति एकड़ की दर से 200 लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करना चाहिए। 👉🏻 खेती तथा खेती सम्बंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए कृषि ज्ञान को फॉलो करें। फॉलो करने के लिए अभी क्लिक ulink://android.agrostar.in/publicProfile?userId=558020 करें।
स्रोत:- कृषि विभाग उत्तर प्रदेश, प्रिय किसान भाइयों दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक👍करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
8
3
संबंधित लेख