योजना और सब्सिडीकृषक जगत
उत्तर प्रदेश में सामूहिक मिनी ग्रीन ट्यूबवेल योजना!
👉🏻मंत्रिपरिषद ने सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने हेतु वर्ष 2021-21 से निजी लघु सिंचाई कार्यक्रम में सामूहिक मिनी ग्रीन ट्यूबवेल योजना प्रारम्भ किये जाने का प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान कर दी है। यह योजना नई योजना के रूप में वर्ष 2019-20 से प्रस्तावित की जा रही है। योजना के में लघु एवं सीमांत श्रेणी के कम से कम 10 किसानों के समूह के लिए सौर ऊर्जा चालित नलकूप का निर्माण कराया जाएगा। एक नलकूप की लागत 4.69 लाख रुपये आंकी की गई है, जिसमें सामान्य श्रेणी के लिए केन्द्रांश 0.7305 लाख रुपये व राज्यांश 2.4215 लाख रुपये और कृषक समाज का अंश 1.5380 लाख रुपये है। एससीपी के लिए केन्द्रांश 0.7305 लाख रुपये, राज्यांश 2.9855 लाख रुपये और कृषक समूह का अंश 0.974 लाख रुपये है। 👉🏻योजना में नलकूप लघु सिंचाई विभाग द्वारा और सोलर पम्प की स्थापना कृषि विभाग द्वारा कराई जाएगी। कुसुम योजना-बी के लिए कृषि विभाग नोडल विभाग है। एक नलकूप से 6 हेक्टेयर शुद्ध क्षेत्र सिंचित होगा और 10 हेक्टेयर सिंचन क्षमता सृजित होगी। योजना में 69 मीटर तक गहरे नलकूप का निर्माण होगा। नलकूप स्थापना के साथ-साथ पम्प हाउस, जल वितरण प्रणाली के लिए एचडीपीई पाइप की व्यवस्था के साथ जल निकासी के लिए पांच हार्स पावर के सौर ऊर्जा चालित पंप की स्थापना भी होगी। योजना पायलट प्रोजेक्ट के रूप में एक वर्ष के लिए प्रस्तावित की गई है, जिसमें 179 नलकूपों के लिए 600 लाख रुपये का बजट रखा गया है। मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार अतिरिक्त बजट की स्वीकृति प्राप्त कर बड़े जनपदों के लिए 10 एवं छोटे जनपदों के लिए पांच सामूहिक नलकूपों के निर्माण की कार्यवाही की जाएगी।
स्रोत- कृषक जगत, प्रिय किसान भाइयों यदि आपको दी गयी योजना की जानकारी उपयोगी लगी तो इसे लाइक👍करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद।
52
2
संबंधित लेख