एग्री डॉक्टर सलाहएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
खीरे का मृदुरोमिल आसिता (डाउनी मिल्ड्यू) रोग
यह रोग खीरा फसल में वर्षा के उपरान्त जब तापमान 20 से 22 डिग्री सेंटीग्रेट हो, तब तेजी से फैलता है| उत्तरी भारत में इस रोग का प्रकोप अधिक है| इस रोग से पत्तियों पर कोणीय धब्बे बनते हैं, जो कि बाद में पीले हो जाते हैं| अधिक आर्द्रता होने पर पत्ती के निचली सतह पर मृदुरोमिल कवक की वृद्धि दिखाई देती है| इसके नियंत्रण के लिए अजोक्सिस्ट्रोबिन 23% एस सी @ 200 मिली० प्रति एकड़ की दर से 200 लीटर पानी में मिलकर फसल पर छिड़काव करें। 
यदि आपको आज के सुझाव में दी गई जानकारी उपयोगी लगे, तो इसे लाइक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद।
11
1
संबंधित लेख