एग्री डॉक्टर सलाहउत्तर प्रदेश कृषि विभाग
मक्का में जीवाणु डंठल सड़न की रोकथाम
यह रोग अधिक वर्षा वाले क्षेत्रों में लगता हैं इसमें तने की पोरियों पर जलीय धब्बे दिखाई देते हैं जो शीध्र ही सड़ने लगते हैं और उससे दुर्गन्ध आती हैं। पत्तियां पीली पड़कर सूख जाती हैं। इसके नियंत्रण  के लिए स्टेप्टोमाइसीन सल्फेट 90% + टेट्रा साइक्लीन हाइड्रोक्लोराइड 10% @ 6 ग्राम अथवा 24 ग्राम एग्रीमाइसीन तथा 200 ग्राम कापर आक्सीक्लोराइड प्रति हे० की दर से छिड़काव करने से अधिक लाभ होता हैं।
स्रोत- उत्तर प्रदेश कृषि विभाग  प्रिय किसान भाइयों यदि आपको आज  के सुझाव में दी गयी जानकारी  उपयोगी लगी तो इसे लाइक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद।
4
0
संबंधित लेख