आज का सुझावएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
गन्ने की फसल में पायरिल्ला कीट का नियंत्रण
इस कीट को इसकी नुकीली चोंच के कारण आसानी से पहचाना जा सकता है। ग्रसित फसल की पत्तियां पीली पड़ने लगती है, क्योंकि इस कीट के शिशु और वयस्कों द्वारा इनका रस चूस लिया गया होता है। रस चूसते समय यह कीट पत्तियों पर एक लसलसा सा पदार्थ छोड़ता है, जिससे पत्तियों पर काली फफूंद उगने लगती हैं। समूचे पत्ते काले पड़ने लगते हैं पौधों में प्रकाश संश्लेषण की क्रिया में बाधा पड़ने लगती है। इस कीट के नियंत्रण के लिए मोनोक्रोटोफॉस 36.00% एस.एल.@ 200 मिली 200 लीटर पानी के साथ प्रति एकड़ छिड़काव करें।
यंहा दी गई जानकारी यदि आपको उपयोगी लगे तो, लाइक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें।
10
1
संबंधित लेख