कृषि वार्ताएग्रोवन
आम की नई किस्म विकसित
बैंगलोर में भारतीय बागवानी अनुसंधान संस्थान के विशेषज्ञों ने आम की अर्का सुप्रभात (एच -14) संकरित किस्म को विकसित किया है। इस किस्म को 'आम्रपाली' और 'अर्का' अनमोल किस्मों की संकर से विकसित किया गया है। भारतीय बागवानी अनुसंधान संस्थान में फल फसल अनुभाग के निदेशक एम. शंकरन, डॉ. सी. वासुगी ने इस किस्मों को विकसित करने के लिए शोध किया है। किस्म की विशेषताएं: 1. कलम मध्यम लम्बा बढ़ने वाला, शाखाएं फैलाव वाली हैं। 2. हर साल फल के उत्पाद, गुच्छे में लगते हैं। 3. रोपाई के चार साल बाद प्रति कलम 35 से 40 किलो फल का उत्पाद। 4. प्रति फल का वजन 240-250 ग्राम, फल का आकार हापुस की तरह। 5. फल में गूदे की अधिक मात्रा, गूदे का रंग आम्रपाली किस्म की तरह गहरा नारंगी होता है। 6. फल में गूदे की मात्रा 70 प्रतिशत, टीएसएस मात्रा 22 बिर्क्स से अधिक, आम्लता 0. 12 प्रतिशत। 7. फलों में कैरोटीनॉयड की मात्रा 8.35 मिलीग्राम और फ्लेवोनोइड्स की मात्रा 9.91 मिली ग्राम प्रति 100 ग्राम फल के वजन के बराबर होता है। 8. सामान्य तापमान तक फसल की कटाई के बाद 8 से 10 दिनों तक टिकाऊ क्षमता। संदर्भ: अग्रोवन, 1 अगस्त 2019
186
27
संबंधित लेख