एग्री डॉक्टर सलाहएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
ईसबगोल का बीज उपचार!
किसान भाइयों इसबगोल को फफूंदी जनित रोगों से बचाव के लिए बीज उपचार करना बहुत ही आवश्यक है। मृदा उपचार हेतु जैविक फफंदी नाशक ट्राइकोडर्मा विरिडी की 2.5 किग्रा मात्रा प्रति हेक्टेअर की दर से अच्छी पकी हुई गोबर की खाद अथवा वर्मी कम्पोस्ट में मिला कर नमी युक्त खेत में प्रयोग करें। 👉🏻 इस उत्पाद की खरीदी करने के लिए यहाँ ulink://android.agrostar.in/productdetails?skuCode=AGS-CP-573 क्लिक करें। 👉🏻 खेती तथा खेती सम्बंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए कृषि ज्ञान को फॉलो करें। फॉलो करने के लिए अभी क्लिक ulink://android.agrostar.in/publicProfile?userId=558020 करें।
स्रोत:- एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस, यदि आपको आज के सुझाव में दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद।
11
1
संबंधित लेख