एग्री डॉक्टर सलाहएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
इसबगोल की खेती के लिए खाद एवं उर्वरक प्रबंधन!
किसान भाइयों ईसबगोल को अधिक फसल प्राप्त करने के लिए खाद व उर्वरक के रूप में गोबर की खाद 15 टन प्रति हेक्टेयर बुवाई के समय खेत में डालनी चाहिए। इसके अलावा 50 किलो नाइट्रोजन, 30 किलो फास्फोरस तथा 20 किलो पोटाश प्रति हेक्टेयर की दर से देना चाहिए। नाइट्रोजन का 50 प्रतिशत भाग बुवाई के समय तथा शेष 50 प्रतिशत बुवाई के एक माह पश्‍चात् दिया जाता है। भूमि में पोटाश की मात्रा पर्याप्त होने पर पोटाश डालने की आवश्यकता नही होती। 👉🏻 खेती तथा खेती सम्बंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए कृषि ज्ञान को फॉलो करें। फॉलो करने के लिए अभी क्लिक ulink://android.agrostar.in/publicProfile?userId=558020 करें।
स्रोत- एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस, प्रिय किसान भाइयों दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक 👍 करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
8
3
संबंधित लेख