सलाहकार लेखकृषि और किसान कल्याण मंत्रालय
मेथी की फसल में जड़ गलन की रोकथाम!
किसान भाइयों मेथी की फसल में जड़ गलन रोग मेथी का मृदा जनित रोग है, जिससे रोग के प्रारंभ में पत्तियाँ पीली पड़कर सूखना प्रारंभ होती हैं एवं अन्त में पूरा पौधा सूख जाता है। फलियाँ बनने के बाद इनके लक्षण देर से प्रकट होते हैं। मेथी की खेती में जड़ गलन रोग पानी भराव की वजह से लगता है। जो एक मृदा जनित रोग है। इस रोग के लगने पर पौधा मुरझाकर सुख जाता है। इस रोग की रोकथाम के लिए:- 1. बीज को किसी फफूंदनाशी दवाई द्वारा उपचारित करके बुवाई करनी चाहिए। 2. उचित फसल चक्र अपनाना चाहिए। 3. ग्रीष्मकालीन गहरी जुताई करना चाहिए। 4. इसको नियंत्रित करने के लिए बुवाई के समय नीम केक @ 80 किलोग्राम/एकड़ की दर से लगाएं जमीन में दें। 5. मृदा अनुप्रयोग: ट्राइकोडर्मा विरडी @ 2 किलोग्राम को 100 किलोग्राम गोबर खाद के साथ लागू करें। इसकी खरीदारी के लिए अभी ulink://android.agrostar.in/productdetails?skuCode=AGS-CP-573 क्लिक करें।
स्रोत:-कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय, किसान भाइयों यदि आपको दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक 👍 करें एवं अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद।
12
1
संबंधित लेख