एग्री डॉक्टर सलाहएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
गाजर की फसल के लिए खाद एवं उर्वरक प्रबंधन!
गाजर में खाद एवं उर्वरकों का उपयोग मृदा परीक्षण के आधार पर करना चाहिए। सामान्तया खेत की तैयारी के समय 150 क्विंटल/हेक्टेयर की दर से पूर्ण रूप से सड़ी गोबर की खाद खेत में मिला देना चाहिए। गाजर की सामान्य उर्वरकता वाली मृदाओं में पैदावार लेने के लिए नत्रजन 75 किलो, डीएपी 50 किलोग्राम एवं म्यूरेट ऑफ पोटाश 30 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर बुआई के पूर्व खेत मे मिलाएं। यूरिया 25 किलोग्राम प्रति एकड़ बुआई के 20 दिन और यूरिया 25 किलोग्राम प्रति एकड़ बुआई के 35-40 दिन बाद, फसल विरलीकरण व निराई गुड़ाई के बाद छिटक कर सिंचाई कर देनी चाहिए।
यदि आपको आज के सुझाव में दी गई जानकारी उपयोगी लगे, तो इसे लाइक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद।
4
0