एग्री डॉक्टर सलाहएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
अरंडी फसल के लिए बुआई की विधियाँ और साधन!
साधरणतः देसी हल चलाने के बाद अरंडी की बुआई करें। उपलब्ध होने पर फर्टीड्रिल, पोरा टचूब, फैस्को हल और एकल कतार बीज ड्रिल से उचित नमी के स्थान पर बीज रखें। बुआई से पहले 24-28 घण्टे तक बीजों को भिगो कर रखें। लवणीय मिट्टी हो तो बुआई से पहले बीजों को 3 घण्टे तक 1 प्रतिशत सोडियम क्लोराइड में भिगोयें। इसके बाद बुआई करें।
यदि आपको आज के सुझाव में दी गई जानकारी उपयोगी लगे, तो इसे लाइक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद।
26
6
संबंधित लेख