आज का सुझावएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
मूंगफली का बीज उपचार करते समय क्या सावधानियां रखें!
मूंगफली का छिलका बहुत ही महिम एवं मुलायम होता है। अगर मूंगफली का छिलका निकल जाता है, तो बीज अंकुरित नहीं होते है। जिसके कारण हमें अधिक लागत लगानी पड़ती है। इसमें सावधानी न रखने से आर्थिक नुकसान उठाना पड़ता है। जब भी हम बीज उपचार करें तो मुख्य बातों का ध्यान रखें। बीजों को सबसे पहले फफूंदी नाशक दवाई से बीज उपचार करना चाहिए। इसके बाद कीटनाशक दवाई से बीज उपचार करना चाहिए। और अंत में राइजोबियम कल्चर से बीज उपचार करना चाहिए। 2 घन्टे छायादार स्थान पर सुखाकर बुवाई करना चाहिए।
33
0
संबंधित लेख