कृषि वार्तापुढारी
अब भिंडी का रंग होगा 'लाल'!
वाराणसी। भारतीय कृषि वैज्ञानिकों ने करीब 23 साल की कड़ी मेहनत के बाद भिंडी की नई प्रजाति विकसित कर ली है। भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान (आईआईवीआर) के वैज्ञानिकों ने एक खास लाल रंग की भिंडी विकसित की है। इसका नाम 'काशी लालिमा' रखा गया है।
वैज्ञानिकों ने बताया कि यह भिंडी एंटी ऑक्सीडेंट, आयरन और कैल्शियम सहित तमाम पोषक तत्वों से भरपूर है। आम भिंडी के मुकाबले इसकी कीमत ज्यादा है। काशी लालिमा भिंडी की अलग-अलग किस्मों की कीमत 100 से 500 रुपए किलो तक है। बता दें कि लाल रंग की भिंडी पश्चिमी देशों में मिलती है और हमारे देश में उपयोग के लिए वहीं से आयात की जाती है। देश में इसकी किस्म विकसित हो जाने के बाद इसे आयात करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। अब भारतीय किसान भी इसका उत्पादन कर सकेंगे। संस्थान ने बताया कि 1995-96 में ही इसके लिए काम शुरू हो गया था। लेकिन अब जाकर सफलता मिली है। संस्थान से काशी लालिमा भिंडी का बीज आम लोगों के लिए दिसंबर से मिलने लगेगा। इससे किसानों को लाभ होगा, साथ ही आम लोग भी इससे भरपूर पोषक तत्व पाएंगे। स्रोत – पुढारी, 22 सितंबर 2019 यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
410
2
संबंधित लेख