Looking for our company website?  
प्याज की फसल में रोग और कीट नियंत्रण
प्याज की फसल में थ्रिप्स मुख्य कीट है। इस कीट का प्रकोप फ़सल में होने के कारण इसका परिणाम फसल के उपज को कम करता है। इसके प्रभावी नियंत्रण के लिए इस वीडियो में संपूर्ण...
गुरु ज्ञान  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
21
5
गन्ना में उर्वरक प्रबंधन
फरवरी माह में बोए गए गन्ना में अपैल माह में ( बुआई के 45 दिन बाद) सिंचाई उपरान्त 50 किलोग्राम यूरिया प्रति एकड़ की दर से डालकर टॉप ड्रेसिंग करें तथा गुड़ाई करें।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
17
0
तरबूज की फसल में रस चूसक कीटों का प्रकोप
किसान का नाम : गणेश महादेव गुतल राज्य - महाराष्ट्र सलाह: इसके नियंत्रण के लिए पीले चिपचिपे जाल प्रति एकड़ 7 से 8 स्थापित करें।
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
34
2
ग्रीष्मकालीन गहरी जुताई
रबी फसलों की कटाई उपरांत खाली खेतों से मृदा परीक्षण हेतु नमूने निकालकर मिट्टी पलटने वाले हल से गहरी जुताई करें।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
35
2
स्वस्थ और आकर्षक तरबूज की फसल
किसान का नाम : अजय घुमारे राज्य - महाराष्ट्र सलाह - 00:52:34@ 75 ग्राम प्रति पंप के हिसाव से छिड़काव करें।
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
471
10
करेला का बीजउपचार कैसे करें
करेले के बीज उपचार के लिए कार्बेन्डाजिम 50% डब्ल्यूपी 2 ग्राम प्रति किलोग्राम या ट्राईकोडर्मा 4 ग्राम प्रति किलोग्राम बीज के हिसाब से उपचारित करें।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
50
2
गेहूं फसल में रतुआ रोग का नियंत्रण
किसान का नाम : मनजोत सिंह राज्य: पंजाब सलाह: प्रोपिकोनाज़ोल 25% ई.सी. @ 200 मिली दवाई को 200 लीटर पानी के साथ प्रति एकड़ की दर से छिड़काव करें।
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
31
1
अमरुद की उन्नत खेती का राज!
की उन्नत खेती का राज! • अमरुद की खेती अधिक आय देनेवाली बागवानी फसल है। • इसके लिए अच्छी जलनिकास एवं गहरी दोमट मिटटी उपयुक्त होती है। • उच्च सहंता उद्यान के संकल्पना...
सलाहकार लेख  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
144
7
ग्रीष्मकालीन हरे चारे की बुआई
ग्रीष्मकालीन हरे चारे के लिए मक्का अफ्रीकन टाल, ज्वार एम पी चरी तथा लोबिया की बुआई करें।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
49
3
उचित वृद्धि के साथ तरबूज का फल
किसान का नाम : श्री. योगेश मोहिते राज्य : महाराष्ट्र सलाह : 13:40:13@ 3 किलोग्राम प्रति एकड़ ड्रिप के माध्यम से दें।
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
77
11
नींबू वर्गीय पौधों में पत्ती सुरंगक का नियंत्रण
नींबू वर्गीय पौधों में पत्ती सुरंगक के नियंत्रण के लिए कार्बोफ्‌यूरान 3 प्रतिशत सीजी 20 किग्रा. प्रति एकर की दर से भुरकाव कर सिंचाई करें ।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
37
1
स्वस्थ और आकर्षक बाजरा की फसल
किसान का नाम : श्री. रमेशभाई राज्य : गुजरात सलाह : 00:52:34@ 3 किलोग्राम प्रति एकड़ की दर से पानी लगाने के पहले खेत में छिटकाव करें।
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
107
7
लीची में फल झड़ने की रोकथाम
लीची में फल लगने के एक सप्ताह बाद प्लैनोफिक्स 1 मिली प्रति 4.5 लीटर पानी मे घोलकर छिड़काव करके फलों को झड़ने से रोका जा सकता है ।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
23
3
तरबूज की फसल में फफूंदी जनित रोग का संक्रमण
किसान का नाम: श्री. रामकृष्ण राज्य: तेलंगाना युक्ति: कार्बेन्डाजिम 12% + मैनकोजेब 63% डब्ल्यूपी@30 ग्राम प्रति 15 लीटर पानी के साथ मिलाकर छिड़काव करें।
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
30
4
नींबू वर्गीय पौधों में नेमाटोड़ का नियंत्रण
नींबू वर्गीय पौधों में नेमाटोड़ के नियंत्रण के लिए कार्बोफ्यूरान 3 प्रतिशत सीजी 5 किग्रा. प्रति एकर की दर से भुरकाव कर सिंचाई करें ।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
34
4
फसल सुरक्षा में ड्रोन तकनीक का उपयोग
• इस समय किसान मानव निर्मित पंप या ट्रैक्टर ड्रोन स्प्रेयर या मशीन संचालित पंपों के माध्यम से खेत में कीटनाशकों का छिड़काव कर रहे हैं। • आनेवाले समय में नई तकनीक जो...
गुरु ज्ञान  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
826
12
केला में नेमाटोड़ का नियंत्रण
केला में नेमाटोड़ के नियंत्रण के लिए कार्बोफ्‌यूरान 3 प्रतिशत सीजी 50 ग्राम प्रति पौधा की दर से भुरकाव कर सिंचाई करें
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
23
1
संतरा में सॉफ्ट ग्रीन स्केल का नियंत्रण
संतरा में सॉफ्ट ग्रीन स्केल के नियंत्रण के लिए कार्बोफ्‌यूरान 3 प्रतिशत सीजी 13.3 ग्राम प्रति पौधा की दर से भुरकाव कर सिंचाई करें ।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
19
0
स्वस्थ और आकर्षक इसबगोल की फसल
किसान का नाम : श्री. कार्तिक राज्य : राजस्थान सलाह : सूक्ष्म पोषक तत्व 15 ग्राम प्रति पंप के हिसाव से छिड़काव करें।
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
43
0
केला में सिगटोका पत्ती धब्बा की रोकथाम
केला में सिगटोका पत्ती धब्बा रोग की रोकथाम के लिए टेबुकोनाज़ोल 50% + ट्राईफ्लोक्सिस्ट्रोबिन 25% डब्ल्यूजी 120 ग्राम प्रति एकर 300 लीटर पानी मे घोलकर छिडकाव करें।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
28
0
और देखिएं