कृषि वार्ताआउटलुक एग्रीकल्चर
वर्ष 2022 तक देश में 75 लाख महिला स्व-सहायता समूह बनायेंगे : कृषि मंत्री
केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि वर्ष 2022 तक देश में कुल 75 लाख महिला स्व-सहायता समूह (एसएचजी) बनाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि महिलाओं की सक्रिय भागीदारी से ही प्रधानमंत्री का नए भारत का मिशन साकार हो सकता है। तोमर ने कहा कि देशभर में 60.8 लाख एसएचजी के साथ 6.73 करोड़ से अधिक महिलाएं जुड़ी हैं और महिलाओं को आजीविका पाने में अधिक सक्षम बनाने के लिए ग्रामीण विकास मंत्रालय की वर्ष 2022 तक कुल 75 लाख एसएचजी बनाने की योजना है। उन्होंने महिला स्व-सहायता समूह (एसएचजी) को गरीबी उन्मूलन कार्यक्रम की रीढ़ बताया। उन्होंने कहा कि महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए बीते छह साल के दौरान स्वयं सहायता समूहों को 2.75 लाख करोड़ रुपये से अधिक का ऋण प्रदान किया गया है। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के तहत कार्य बल में 55 फीसदी महिलाएं शामिल हैं और दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य योजना (डीडीयू-जीकेवाई) से 4.66 लाख महिलाएं जुड़ी हैं। स्रोत – आउटलुक एग्रीकल्चर, 9 मार्च 2020 यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो लाइक करें और अपने सभी किसान मित्रों के साथ शेयर करें।
48
7
संबंधित लेख